Khattar बोले अमरिंदर से, किसानों को उकसाना बंद कीजिए

0

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कई ट्वीट कर पंजाब के अपने समकक्ष अमरिंदर सिंह से कहा कि वह किसानों को उकसाना बंद करें। खट्टर ने ट्वीट किया, “कैप्टन अमरिंदर जी, मैंने पहले भी कहा है और मैं फिर कह रहा हूं कि एमएसपी में अगर कोई गड़बड़ी हुई तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। इसलिए, कृपया निर्दोष किसानों को भड़काना बंद कीजिए।”

खट्टर ने उन्हें सस्ती राजनीति से बचने के लिए कहा।

खट्टर ने इस मुद्दे पर बीते तीन दिनों से पंजाब के मुख्यमंत्री पर सिर्फ ट्वीट करने और उनके साथ वार्ता से भागने का आरोप भी लगाया। खट्टर ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “मैं बीते तीन दिनों से आपसे संपर्क की कोशिश कर रहा हूं लेकिन, दुखद है कि आपने संपर्क नहीं करने का फैसला किया है। क्या किसानों के मुद्दों के लिए आप इतने ही गंभीर हैं? आप सिर्फ ट्वीट कर रहे हैं और बातचीत से बच रहे हैं, क्यों?”

सिंह पर निशाना साधते हुए खट्टर ने कहा, “आपके झूठ, धोखे और मिथ्या प्रचार का समय खत्म हुआ। अब लोगों को आपका असली चेहरा देखने दीजिए। कोरोना महामारी के दौरान लोगों की जिंदगी खतरे में डालने से रोकिए।”

खट्टर ने कहा, “मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि लोगों की जिंदगी से मत खेलिए। कम से कम महामारी के दौरान सस्ती राजनीति से बचिए।”

केंद्र सरकार के कृषि से जुड़े कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली चलो का नारा बुलंद करके सड़कों पर उतर आए हैं। पुलिस और सुरक्षाबलों के साथ हरियाणा बॉर्डर पर उनकी झड़पें भी हुई हैं। एक तरफ किसान और पुलिस आमने सामने हैं तो दूसरी ओर पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्री ट्विटर पर टकरा रहे हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर को टैग करते हुए ट्वीट किया कि यह बहुत दुख की बात है कि संविधान दिवस पर किसानों के संवैधानिक अधिकारों का हनन किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, “उन्हें जाने दीजिए खट्टर जी। उन्हें मत धकेलिए। किसानों को अपनी आवाज शांति से दिल्ली तक पहुंचाने दीजिए।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleKartik purnima: कार्तिक पूर्णिमा के दिन जरूर करें इन नियमों का पालन, जानिए महत्व
Next articleRajkummar Rao and Paresh Rawal: एक साथ शतरंज खेलते नजर आए परेश रावल और राजकुमार राव, तस्वीर वायरल
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here