Kerala : कस्टम विभाग ने माकपा नेता की पत्नी को भेजा समन

0

सीमा शुल्क विभाग ने शनिवार को केरल में माकपा के पूर्व राज्य सचिव कोडिएरी बालाकृष्णन की पत्नी विनोदिनी को नोटिस भेजकर 10 मार्च को इसके समक्ष पेश होने के लिए कहा है। विवादित जीवन मिशन फ्लैट परियोजना के लाभार्थियों में से एक संतोष एपेन द्वारा कथित रूप से दिए गए आईफोन के गायब होने के संबंध में नोटिस दिया गया है।

विभाग ने अपनी जांच के दौरान पाया है कि केरल गोल्ड तस्करी का मामला सामने आने से पहले विनोदिनी पिछले साल जुलाई तक आईफोन का इस्तेमाल कर रही थीं।

संतोष एपेन यूनिटेक बिल्डर्स के हेड हैं। उन्हें त्रिशूर के वडक्कनचेरी में लाइफ मिशन फ्लैट प्रोजेक्ट बनाने का ठेका मिला था।

उच्च न्यायालय में दायर एक हलफनामे में एपेन ने उस प्राथमिकी को रद्द करने की मांग की जिसमें उल्लेख किया गया था कि स्वप्न सुरेश (केरल सोने की तस्करी मामले में मुख्य आरोपी) ने उसे वीआईपी मेहमानों को देने के लिए पांच आईफोन खरीदने के लिए कहा था। उन वीआईपी मेहमानों को दिसंबर 2019 में यहां आयोजित यूएई राष्ट्रीय दिवस समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था।

अफवाहों का दौर शुरू होने के बाद असल परेशानी शुरू हुई। यह कहा जा रहा था कि नेता प्रतिपक्ष रमेश चेन्निथला को भी स्मार्टफोन दिया गया था। लेकिन, उन्होंने इसका खंडन करते हुए उन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दी जो उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रहे थे।

उस समय उन सभी लोगों की पहचान की गई थी जिन्हें आईफोन दिए गए थे, लेकिन सबसे महंगे आईफोन के मालिक की पहचान नहीं की गई थी।

अब कस्टम्स ने पाया कि विनोदिनी 1.13 लाख रुपये के आईफोन का इस्तेमाल कर रही थीं।

कांग्रेस विधायक अनिल अक्कारा ने इस घोटाले को उजागर किया और सीबीआई जांच के लिए केरल उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया, जिसे हरी झंडी भी दे दी गई।

गोरतलब है कि बालाकृष्णन को माकपा सचिव का पद छोड़ना पड़ा था जब पिछले साल उनके छोटे बेटे बिनेश कोडियरी को बेंगलुरु में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किया गया था। उनके करीबी दोस्त को भी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा गिरफ्तार किया गया था। बिनेश अभी भी जेल में है।

उनका बड़ा बेटा बिनॉय कोडियरी भी एक ऐसे मामले में उलझा हुआ है, जहां बिहार की एक महिला ने यह कहते हुए मुंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है कि उसका बच्चा बिनॉय का बेटा है, जो पहले से शादीशुदा है और उसका परिवार है।

न्यूज स़ोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleIndian Grand Prix : हिमा ने 100 मीटर में जीता स्वर्ण
Next articleगर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीने के ये हैं फायदे
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here