सब्जियों के लिए न्यूनतम कीमत तय करने वाला देश का पहला राज्य बना केरल

0

त्योहारों पर केरल सरकार ने किसानों को शानदार तोहफा दिया है। केरल पहला ऐसा राज्य बन गया है जिसने राज्य के अंदर फसल-सब्जियों और कई अनाजों पर MSP तय कर दिया है। केरल सरकार ने कुल 21 खाने-पीने की चीजों के MSP तय किए हैं।

केरल सरकार 16 सब्जियों एवं फलों के लिए एमएसपी लागू करेगी जो 1 नवंबर से लागू होगा।राज्य सरकार फलों-सब्जियों के उत्पादन की लागत के आधार पर एमएसपी का निर्धारण करेगी।यह इस साल के लिए लागत का करीब 120 फीसदी होगी, लेकिन आगे हर साल इसकी समीक्षा की जाएगी.

इनमें नाशपत्ती, खीरा, टमाटर, पत्तागोभी, गाजर, टमाटर, बीन्स, लहसुन, चुकंदर जैसी फल-सब्जियां हैं. कहा जा रहा है कि इससे राज्य में फलों एव सब्जियों के उत्पादन में बढ़त होगी।

महाराष्ट्र में भी समय-समय पर ऐसी मांग उठती रही है. महाराष्ट्र में खासकर अंगूर, टमाटर, प्याज जैसी फसलों के किसान काफी परेशान रहते हैं। कुछ साल पहले यह देखा गया था कि किसानों को अंगूर 10 रुपये किलो बेचना पड़ा, जबकि उनकी लागत 40 रुपये प्रति किलो तक आ रही थी।

गौरतलब है कि कर्नाटक सरकार भी ऐसी मांग पर विचार कर रही है और पंजाब में भी ऐसी मांग हो रही है। महाराष्ट्र में भी समय-समय पर ऐसी मांग उठती रही है। महाराष्ट्र में खासकर अंगूर, टमाटर, प्याज जैसी फसलों के किसान काफी परेशान रहते हैं। कुछ साल पहले यह देखा गया था कि किसानों को अंगूर 10 रुपये किलो बेचना पड़ा जबकि उनकी लागत 40 रुपये प्रति किलो तक आ रही थी। पंजाब के किसान संगठनों ने हाल में राज्य सरकार से मांग की है कि सब्जियों एवं फलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया जाए। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने भी इस मांग का समर्थन किया है। उन्होंने मांग की है कि पंजाब सरकार राज्य में पैदा होने वाली दालों, सब्जियों और तिलहन के लिए MSP जारी करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here