करवाचौथ विशेष: इन चीजों के बिना अधूरा रह जाएगा करवाचौथ का व्रत

0
142

कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि को करवाचौथ का व्रत रखा जाता हैं, करवाचौथ का व्रत महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए रखती हैं इस दिन महिलाएं चंद्रमा की पूजा आराधना और दर्शन के बाद अपने वैवाहिक जीवन में सुख और शांति की कामना करती हैं वही चंद्रमा पूजन से महिलाओं को अखण्ड सौभाग्य औ दांपत्य सुख का वरदान प्राप्त होता हैं। वही करवाचौथ के पूजन की तेयारी बहुत दिनों पहले से ही शुरु हो जाती हैं वही करवाचौथ की पूजा में इन पूजन सामग्रियों को भी शामिल करें क्योंकि इनके बिना करवाचौथ की पूजा अधूरी मानी जाती हैं, तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं करवाचौथ की पूजन थाकी सामग्री, तो आइए जानते हैं। जानिए पूजन थाली की सामग्री—
छलनी, मिट्टी का टोंटीदार करवा और ढक्कन, दीपक, सिंदूर, पुष्प, फल, मेवे, रुई की बत्ती, कांसे की नौ या ग्यारह तीलियां, नमकीन, मीठी ​मठ्ठियां, मिठाई, रोली और अक्षत, साबुत चालव, आटे का दीपक, धूप या अगरबत्ती, पानी का तांबा या स्टील का लोटा, आठ पूरियों की अठावरी और हलवा।

वही करवाचौथ के दिन सूर्योदय के साथ ही व्रत की शुरुआत हो जाती हैं, इसलिए इस दिन सुबह जल्दी उठ जाना चाहिए। वही पूजा पाठ में लाल रंग को बहुत ही शुभ और पवित्र माना जाता हैं और काले रंग को अशुभ, ​इसलिए इस दिन लाल रंग के वस्त्रों को धारण करें क्योंकि लाल रंग प्यार का प्रतीक होता हैं। करवाचौथ ​के दिन भजन कीर्तन करना चाहिए। फालतू के कामों में ध्यान नहीं देना चाहिए। वही धार्मिक शास्त्रों के मुताबिक करवाचौथ वाले दिन किसी भी सोते हुए व्यक्ति को जगाना नही चाहिए। यह अशुभ माना जाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here