कर ‘नाटक’ में क्या येदियुरप्पा साबित कर पाएंगे बहुमत या नाटक अभी बाकी है

0
338

जयपुर । कर्नाटक विधानसभा चुनावों में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत न मिलने से त्रिशंकु वाली स्थिती बनी हुई है। पूर्ण बहुमत न मिलने से कर्नाटक में राजनीतिक संकट के साथ साथ नाटकीय घटनाक्रम बना हुआ है।  इन सब घटनाक्रम के बीच आज चुनावी मामला कोर्ट में चला गया है।

17 मई सुबह 9 बजे बेंगलुरु में बीजेपी विधायक दल के नेता येदियुरप्पा ने मिथुन लग्न में मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की थीl आज कोर्ट में मामला जाने के बाद सरकार को जल्द से जल्द अपने पक्ष में विधायको की सूची कोर्ट में पेश करनी होगी।

कर्नाटक चुनाव के बाद से भाजपा और कांग्रेस दोनों कर्नाटक को खोना नहीं चाहते। इन सब घटनाक्रम के बाद आज येदियुरप्पा की जन्म कुंडली में एक नजर डालते हैं। येदियुरप्पा की कुंडली में इस समय शनि की ‘साढ़ेसाती’  चल रही है। इसके साथ शपथ ग्रहण के समय इनकी कुंडली में अष्टम भाव में अशुभ ग्रह केतु और मंगल के आने से इनको कुछ दिनों में बहुमत साबित करना है, लेकिन ये सब ज्योतिषीय दृष्टिकोण से थोडीं परेशानी का कारण बन सकता हैl

कर्नाटक की विधानसभा 224 सदस्यों की है, जिसमें बीजेपी की पास 104 विधायक हैं जो कि बहुमत से केवल 8  ही कम हैं।  जिस समय येदियुरप्पा ने बेंगलुरु में मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की तब मिथुन लग्न में सप्तम भाव में बैठे शनि और अष्टम भाव में केतु-मंगल की अशुभ स्थिति में होने से इसका प्रभाव सरकार पर पडेगा। शपथ ग्रहण के समय कुंडली में सूर्य और चन्द्रमा 12 वें घर में होने से सरकार की स्थिरता पर संकट पड सकता है। इन सब मामलों को बीच सुप्रीमकोर्ट में एक याचिका कांग्रेस और जनतादल ने डाली है। आज जिस पर फौसला आना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here