एक बार फिर से कंगना रनौत ने उधव ठाकरे पर किया वार बॉम्बे उच्च न्यायालय का जताया अभार

0

जब कंगना रनौत के आफिस को अवैध निर्माण बताते हुए बीएमसी ने तोड़ दिया था। वो भी नोटिस मिलने के महज 24 के भीतर तो उस वक्त काफी हंगामा हुआ था। आपको बता दें अभिनेता का आफिस उस वक्त तोड़ा ​गया ​था कि जब कंगना रनौत मुंबइ्र में नहीं थी। इसके बाद कंगना रनौत इस मामले को लेकर हाई कोर्ट पहुंची थी बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के बाद बीएमसी ने तोड़फोड़ रूकी थी। बॉम्बे हाई कोर्ट ने बृहन्मुंबई महानगर पालिका के खिलाफ कंगना रनौत की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि, वे अभिनेत्री की आंशिक रूप से ध्वस्त संपत्ति को नहीं छोड़ सकती। हालांकि आगे की सुनवाई कल यानी 25 सितंबर को होने वाली है। HC ने दोनों को अपने हलफनामे दाखिल करने के लिए अगले मंगलवार तक का समय दिया।बॉम्बे हाई कोर्ट की तरफ से ये फैसला आने के बाद अभिनेत्री कंगना रनौत ने उच्च न्यायालय के माननीय जज के प्रति अपने सोशल मीडिया पर आभार व्यक्त किया। अभिनेत्री के इस पोस्ट को आप यहां पर देख सकते है। वही। कोर्ट ने ये भी पाया कि मानसून का समय है और बंगले को आंशिक रूप से ध्वस्त कर दिया गा है। इसलिए सुनवाई में और देरी नहीं की जा सकती है। इसी बीच कंगना रनौत ने एक बार फिर से महाराष्ट्र सरकार पर निशाना कसा है।

आपको बता दें कि भिवंडी की इमारत ढहने से मरने वालों की संख्या 40 के आस पास हो गई है। कंगना ने बताया कि, पुलवामा आतंकी हमले के दौरान शहीद हुए सैनिकों की संख्या इमारत गिरने से मरने वालों की संख्या के मुकाबले कम थी। उन्होंने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, शिवसेना सांसद संजय राउत और बीएमसी को इस ‘लापरवाही’ के लिए दोषी ठहराया।

Jhanvi Kapoor: जाह्नवी कपूर का ब्राइडल लुक देखकर आप भी हो जाएंगे उनकी खूबसूरती के कायल

Deepika Padukone: कल NCB के सामने होगी दीपिका पादुकोण की पेशी, शूटिंग छोड़ गोवा से मुंबई हुई रवाना

Nawazuddin Siddiqui: नवाजुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ दर्ज हुई शिकायत, जाने क्या है मामला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here