भगवान शिव के क्रोध से जन्मी थी ये अद्भुत शक्ति, इनकी पूजा से मिलती हैं सुख-संपदा

0

हिंदू धर्म में पूजा पाठ का बहुत अधिक महत्व दिया जाता हैं। वही इस धर्म में सभी देवी देवता की पूजा के लिए अलग—अलग विधान होते हैं। वही देवों के देव महादेव यानी कि भोलेनाथ यह ऐसे देवता हैं। बहुत जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं। उनको प्रसन्न करना इन भक्तों के लिए बहुत ही सरल होता हैं। वही जिस प्रकार से इन्हें प्रसन्न करना आसान होता हैं। वैसे ही इनको क्रोध को झेल पाना उतना ही मुश्किल होता हैं। भगवान भोलेनाथ का गुस्सा बहुत ही अद्भुत होता हैं।

वही आपको बता दें,कि ऐसा कहा जाता हैं,कि एक बार ब्रह्मा जी और भगवान विष्णु जी के बीच में विवाद होने लगा जिसकी वजह से भगवान शंकर अत्यधिक क्रोधित हो गए थे और उनके क्रोध से एक अद्भुत शक्ति का जन्म हुआ था जिससे काल भैरव के नाम से जाना जाता हैं। वही आपको बता दें,कि जिस दिन कालभैरव उत्पन्न हुए थे उसी दिन कालाष्टमी की तिथि थी। वही धम शास्त्रों के मुताबिक इस दिन पूरे भक्ति भाव से इनकी पूजा और व्रत करने मात्र से व्यक्ति को अपने जीवन में सभी सुखों की प्राप्त हो जाती हैं। उसके जीवन में कभी कोई कष्ट या फिर समस्या नहीं उत्पन्न हो पाती हैं। आपको बता दें,कि हर महीने के कृष्णपक्ष की अष्टमी ति​थि को कालाष्टमी का त्यौहार भी मनाया जाता हैं। इस दिन ​भगवान भोलेनाथ के अंश कालभैरव की पूजा व अर्चना की जाती हैं। यह भगवान शिव के ही अवतार माने जाते हैं। वही कालाष्टमी को भैरवाष्टमी के नाम से भी जाना जाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here