गुरुवार को पड़ रही है कजरी तीज, जानिए इस व्रत का महत्व

0

हिंदू धर्म में तीज त्योहार को बहुत ही खास माना जाता हैं वही हरियाली तीज की तरह ही कजरी तीज का पर्व भी महिलाओं के लिए खास होता हैं भाद्रपद मास में कृष्ण पक्ष की तृतीया को कजरी तीज का त्योहार पड़ता हैं इस बार यह पर्व 6 अगस्त को मनाया जाएगा। ज्योतिष के मुताबिक यह त्योहार उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और राजस्थान सहित कई राज्यों में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता हैं। वही कजरी तीज को कजली तीज, बूढ़ी तीज व सातूड़ी तीज भी कहते हैं जिस तरह से हरियाली तीज, हरतालिका तीज का पर्व महिलाओं के लिए बहुत मायने रखता हैं उसी तरह कजरी तीज भी सुहाग महिलाओं के लिए खास होता हैं, तो आज हम आपको इस व्रत का महत्व बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

वही भादो मास के तृतीया माह को कजली तीज का पर्व मनाया जाता हैं इस साल यह पर्व 6 अगस्त को पड़ रहा हैं कजरी तीज का त्योहार महिलाओं का पर्व माना जाता हैं इस दिन सुहागनें वैवाहिक जीवन की सुख और समृद्धि के लिए उपवास रखती हैं कजली तीज को हर इलाकों में अलग अलग नाम से जाना जाता हैं। वैवाहिक जीवन की सुख और समृद्धि के लिए यह व्रत किया जाता हैं कहा जाता है कि स दिन कुंवारी कन्या या सुहागनें पूरे श्रद्धा से शिव और मां पार्वती की पूजा अगर करती हैं तो उन्हें अच्छा जीवनसाथी और सदा सौभाग्यवती होने का आशीर्वाद प्राप्त होता हैं। ऐसा माना जाता हैं कि इस दिन माता पार्वती ने शिव को अपनी कठोर तपस्या के बाद प्राप्त किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here