जज लोया के मौत के मामले में नया मोड़, जानिये मामला

0
68

सुप्रीम कोर्ट ने सोहराबुद्दीन के मौत के मामले की जांच कर रहे जज लोया की मौत के मामले में एक नया फैसला किया है। इस फैसले के बाद सुप्रीम कोर्ट में चल रहे जजों के विवाद का मामला भी सुलझता हुआ दिख रहा है। सुप्रीम कोर्ट के चार जज जिस मामले को ले कर नाराज़ चल रहे थे, उसमें जस्टिस लोया की मौत का मामला भी था।

क्या था मामला

कांग्रेसी नेता तहसीन पूनावाला और महाराष्ट्र के एक पत्रकार बंधुराज संभाजी लोने ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर जज लोया की मौत की स्वतंत्र जांच की मांग की थी। गौरतलब है कि जज लोया की मौत पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं। इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट में भी एक याचिका दाखिल की गई है।

deepak mishra

अब क्या फैसला किया है सुप्रीम कोर्ट ने

अब जज लोया की मौत के मामले में जस्टिस अरुण मिश्रा ने खुद को अलग कर लिया है। जिसके बाद इसकी सुनवाई करने वाले जज बदल लिए गए हैं। अब खुद सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा इस केस की सुनवाई करेंगे और एक बेंच का गठन करेंगे। सोमवार की सुनवाई लिस्ट के मुताबिक, ये मामला कोर्ट 1 में 45 नंबर पर है। चीफ जस्टिस के साथ जस्टिस एएम खानविलकर और डी वाई चंद्रचूड़ सुनवाई करेंगे।

justice loya

क्या है जज लोया की मौत का मामला

जज लोया की मौत हार्ट अटैक से तब हो गई जब 1 दिसम्बर 2014 को वो अपने सहकर्मी की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए जा रहे थे। इस मामले में जज लोया की बहन ने अपने भाई की मौत पर सवाल उठा दिये थे।

सोहराबुद्दीन मुठभेड़ के मामले की सुनवाई कर रहे थे जज लोया

गुजरात में सोहराबुद्दीन शेख, उनकी पत्नी कौसर बी और उनके सहयोगी तुलसीदास प्रजापति के नवंबर 2005 में हुई कथित फर्जी मुठभेड़ मामले में पुलिसकर्मी समेत कुल 23 आरोपी मुकदमे का सामना कर रहे हैं। बाद में यह मामला सीबीआई को सौंपा गया और मुकदमे को मुंबई ट्रांसफर किया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here