जेएनयू की पूर्व छात्र नेता शेहला राशिद ने चुनावी राजनीति छोड़ने का ऐलान किया

0
44

जयपुर।   जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता और जम्मू-कश्मीर पीपल्स मूवमेंट पार्टी के नेता शहला रशीद ने चुनावी राजनीति छोड़ने का ऐलान किया है और उन्होंने फेसबुक और ट्विटर पर इसके लिए बयान जारी करते हुए इस बात की जानकारी दी है.

आपको बता दें कि शहला रशीद ने अपने बयान में कहा है कि पिछले 2 से अधिक महीनों में लाखों नागरिकों को प्रतिबंध के बीच रहना पड़ रहा है वहीं भारत सरकार अभी भी कश्मीर में बच्चों का अपहरण कर रही है और लोग एंबुलेंस और अन्य आपातकालीन सेवाओं को फोन करने से भी वंचित हैं वहीं केंद्र सरकार जल्द ही कश्मीर में ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल चुनाव कराने जा रही है जो बाहरी दुनिया को यह देखने का प्रयास है कि कश्मीर में सब कुछ सामान्य है.

 

इसके अलावा आपको बता दें कि उन्होंने कहा कि इस तरह की स्थिति में आवाज उठाने और चुनावी प्रक्रिया पर अपना रुख स्पष्ट करने को नैतिक जिम्मेदारी मानती हूं वही जम्मू कश्मीर में जारी प्रतिबंधों के बीच केंद्र सरकार वहां बीडीसी चुनाव कराने जा रही है और जिस वजह से उन्हें यह बयान लिखना पड़ रहा है. वहीं सेना ने कहा कि केंद्र सरकार चुनाव कराकर दुनिया को यह दिखाना चाहती है कि अभी भी कश्मीर में लोकतंत्र है लेकिन यह लोकतंत्र नहीं बल्कि लोकतंत्र की हत्या है.

आपको मालूम हो कि इस साल मार्च में शहला रशीद पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैजल द्वारा गठित जम्मू कश्मीर पीपल्स मूवमेंट पार्टी में शामिल हुई थी वही शहला का कहना है कि यह बात स्पष्ट है कि कश्मीर में किसी भी राजनीतिक गतिविधि में शामिल होने के लिए समझौते की जरूरत है उन्होंने कहा कि वह कार्यकर्ता के तौर पर अपना काम जारी रखेगी लेकिन मुख्यधारा की राजनीति से जुड़े रहने पर उन्हें अभी भी भरोसा नहीं रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here