झारखंड: नक्सल प्रभावित इलाकों में मतदान पर नहीं दिखा कोई असर

0

झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 13 सीटों के लिए शनिवार सुबह 7 बजे से वोटिंग शुरू हुई। इस चुनाव में नक्सली इलाकों में धुंआधार वोटिंग हुई। वोटिंग के दौरान नक्सली प्रभावित क्षेत्र में वोटर्स की लाइनें लगी रही। इस दौरान मतदाताओं में जागरुकता देखने को मिली। हालांकि इस बीच नक्सलियों ने एक पुल को धमाके के साथ उड़ा दिया था लेकिन इसका असर वोटर्स पर नहीं पड़ा। झारखंड में पांच चरणों में वोटिंग  होगी।

पहले चरण में बीजेपी 12 सीटों पर और जेवीएम 13 सीटोंपर चुनाव लड़ रही है। झारखंड विधानसभा चुनाव में 13 सीटों के लिए कुल 4892 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। गुमला जिले के विष्णुपुर विधानसभा क्षेत्र में नक्सलियों ने एक पुल को उड़ा दिया। विष्णुप्र विधानसभा इलाके में आज वोटिंग हो रही है लेकिन नक्सली हमले में अब तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं आई है। हमले की वजह से मतदान पर कोई असर नहीं पड़ने को लेकर डिप्टी कमिश्नर शशि रंजन ने मीडिया को बताया है। हमले के बाद से पुलिस ने कॉबिंग ऑपरेशन शुरू किया है।

चुनाव आयोग ने प्रतम चरण में नक्सल प्रभावित इलाकों के होने के कारण मतदान का समय 3 बजे ततक रखने का फैसला लिया है। यहां नक्सल प्रभावित 6 जिलों की 13 सीटों पर मतदान जारी है। मतदान के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

भवनाथपुर में सबसे ज्यादा मतदाता हैं। यहां से विधानसभा के लिए 13 सीटें हैं और मतदाता भी सबसे ज्यादा है। विधानसभा चुनाव में 378004 वोटर इस चुनाव में वोट डालकर लोकतंत्र के भागीदार बनेंगे। इनमें से पुरुष वोटरों की संख्या की  बात करें तो  पुरुष वोटर 201992 है वहीं महिला वोटरों में 176012 है। भवनाथपुर के अलावा दूसरे नंबर पर चतरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here