अयोध्या की दिवाली की तर्ज पर इस साल मथुरा में जन्माष्टमी

0
75

उत्तर प्रदेश के मथुरा में अयोध्या की दीवाली की तर्ज पर इस बार भव्य तरीके से तीन दिवसीय कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जा रही है। इसके लिए विशाल मंच तैयार किया गया है, जिसपर लगभग 1000 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देकर लोगों को भक्ति रस में सराबोर करेंगे। इस साल जन्माष्टमी समारोह का मुख्य आकर्षण ‘दही हांडी’ कार्यक्रम होगा, जिसका उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 24 अगस्त को मथुरा के रामलीला मैदान में करेंगे। मुंबई की एक मंडली को दही हांडी कार्यक्रम के लिए विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है।

प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता के अनुसार, मथुरा में 1000 से अधिक अंतर्राष्ट्रीय कलाकार, बॉलीवुड हस्तियां, लोक कलाकार और छात्र रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि 24 अगस्त को कृष्णावतार कार्यक्रम के तहत झांकी निकाली जाएगी। बॉलीवुड के लोकप्रिय संगीतकार शंकर महादेवन भी 24 अगस्त को मथुरा के रामलीला ग्राउंड में परफॉर्म कर सकते हैं। पद्मश्री अनूप जलोटा का भजन गायन 25 अगस्त को निश्चित किया गया है। भाजपा सांसद हेमा मालिनी भी प्रस्तुति दे सकती हैं।

योगी आदित्यनाथ शनिवार को कृष्णोत्सव-2019 का औपचारिक उद्घाटन करेंगे तथा जनपद के लिए प्रारम्भ एवं पूर्ण की जा रही 236 करोड़ रुपये लागत की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शुभारंभ भी करेंगे।

योगी शनिवार को हवाई मार्ग से गोरखपुर से आगरा के सैन्य हवाईअड्डे खेरिया पहुंचेंगे। वहां से वह हेलीकॉप्टर से वृन्दावन पहुंच कर पर्यटन सुविधा केंद्र (टूरिस्ट फेसिलिटेशन सेण्टर) का लोकार्पण करेंगे। वृन्दावन से मुख्यमंत्री मथुरा जाएंगे। वहां वह श्रीष्ण जन्मस्थान परिसर पहुंच कर ठाकुरजी के दर्शन करने के बाद रामलीला मैदान में राज्य के पर्यटन एवं संस्कृति विभाग, उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद एवं जिला प्रशासन के तत्वाधान में आयोजित श्रीकृष्णोत्सव-2019 महाआयोजन का औपचारिक शुभारंभ करेंगे।

ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र ने बताया, “यह तीन दिवसीय कार्यक्रम आज से शुरू हो गया है। इसमें भजन गायक अनूप जलोटा, महाभारत सीरियल में कृष्ण की भूमिका निभा चुके नीतीश भारद्वाज और दिल्ली के यश चौहान सहित अनेक कलाकार भाग ले रहे हैं।”

उन्होंने बताया कि जिले में लगभग हर मार्ग पर मंच बनाए गए हैं, जिन पर देश के अलग-अलग क्षेत्रों से आए कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। मिश्र ने बताया कि इस मौके पर मथुरा लोकसभा क्षेत्र की सांसद, फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी भी उपस्थित रहेंगी।

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने तीन साल पहले अयोध्या के सरयू घाट पर दीपोत्सव का आयोजन शुरू किया था। इस आयोजन के तहत सरयू नदी के घाट पर लाखों की संख्या में दीप जलाए जाते हैं। घाटों को खूबसूरती से सजाया जाता है। पिछले साल भाजपा सरकार ने मथुरा और बरसाना में होली के अवसर पर दो दिनों का रंगोत्सव आयोजित किया था। मुख्यममंत्री खुद इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। मथुरा में इस बार कृष्णोत्सव आयोजित किया जा रहा है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleअरुण जटेली के निधन पर विराट कोहली ने लिखा इमोशनल मैसेज, किया ये ट्वीट
Next articleगूगल एंड्रॉयड 10 में देखने को मिलेंगे ये खास फीचर्स
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here