Janaki jayanti puja vidhi: जानकी जयंती पर आज इस तरह से करें माता सीता की पूजा, जानिए सम्पूर्ण पूजन विधि

0

आज यानी 6 मार्च दिन शनिवार को जानकी जयंती का त्योहार मनाया जा रहा हैं इस दिन लोग व्रत भी रखते हैं इस दिन माता सीता का जन्मदिन मनाया जाता हैं यह तिथि हर साल फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को पड़ती हैं इस दिन देवी सीता के साथ प्रभु श्रीराम की भी पूजा अर्चना की जाती हैं इस दिन शादीशुदा महिलाएं अपने घर की सुख शांति और पति की लंबी आयु के लिए व्रत उपवास करती हैं साथ ही देवी मां सीता को श्रृंगार का सामान भी चढ़ाती हैं इस दिन कुंवारी कन्याएं भी व्रत पूजन करती हैं इसके फल से उन्हें अच्छे वर की प्राप्ति होती हैं इस दिन पूजा करना बहुत ही लाभकारी माना जाता हैं तो आज हम आपको जानकी जयंती के दिन माता सीता की पूजन विधि के बारे में बता रहे हैं तो आइए जानते हैं।

जानिए जानकी जयंती पूजन विधि—
आपको बता दें कि जानकी जयंती के दिन सुबह सवेरे उठ जाना चाहिए। फिर नित्यकर्मों से निवृत्त हो कर स्नानादि कर लेना चाहिए और घर के मंदिर में दीपक जलाना चाहिए। इनकी पूजा की शुरुआत श्री गणेश और देवी अंबिका जी से होती हैं फिर माता सीता को पीले पुष्प, पीले वस्त्र और श्रृंगार का सामान अर्पित किया जाता हैं। जब आप दीपक जला दें तो व्रत का संकल्प लें। इसके बाद घर के मंदिर में मौजूद सभी देवी देवताओं को जल से स्नान करवाएं। स्नान वाले जल में गंगाजल मिलाएं और उसी से देवताओं को स्नान कराएं। वही इसके बाद माता सीता और प्रभु श्रीराम का ध्यान करें। इसके बाद शाम के समय माता सीता की आरती करें फिर व्रत खोलें। फिर माता सीता को भोग लगाएं। प्रसाद को सभी घरवालों में बांट दें और फिर स्वयं ग्रहण करें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here