इंसानों में कोरोना संक्रमण फैलने से पहले ही दिख चुका था ये जानवरों में

0

जयपुर हेल्थ। कोरोना वायरस लैब में तैयार किया गया वायरस है, सोशल मीडिया पर फैल रहे इस अफवाह के बीच कोरोना वायरस पर शोध कर रहे अमरीका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन के वैज्ञानिकों की एक टीम का दावा है कि चीन के वुहान शहर में फैलने से पहले ही यह वायरस जानवरों को संक्रमित कर चुका था।

वैज्ञानिकों के इस दावे से अमरीका और अन्य देशों के उन आरोपों पर सवालिया निशान लग जाता है जो जैविक हथियार के लिए इस वायरस को लैब में प्रयोग करते समय फैलने की बात कह रहे हैं। टीम का मानना है कि यह वायरस जानवरों से इंसान में आया है इसलिए लैब में बनाए जाने की सही नहीं है।

अपने दावे के समर्थन में इन वैज्ञानिकों का यह भी कहना है कि उन्होंने दुनिया भर के वैज्ञानिकों से प्राप्त आंकड़ों का अध्ययन किया है। टीम ने पाया कि यह मध्य चीन में पहली बार सामने आने से बहुत पहले जानवरों में आ गया था।

अभी तक इसकी पहचान इसलिए नहीं हो सकी क्योंकि इस कोरोनो वायरस ने अपने अंदर म्यूटेशन कर लिया था जिससे जानवरों में इसका पहचान नहीं हो सकी।

लेकिन बार-बार इंसानों के संपर्क में आने से इस वायरस के अति सूक्ष्म क्लस्टर एक से दूसरे मानव शरीर में पहुंच गए और ये दुनियाभर फैल गया। वैज्ञानिको के इस शोध ने इस वायरस के लैब में तैयार होने की बात को गलत साबित किया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here