इसरो ने की गगनयान मिशन भेजने से पहले घोषणा, इस साल अंतरिक्ष में भेजेगा महिला रोबोट

0

जयपुर।भारत की अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने अपने महत्वकांक्षी अंतरिक्ष मिशन गगनयान मिशन को दिसंबर 2021 में भेजने की घोषणा कर दी है और इस बारे में जानकारी देते हुए भारत के केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बताया है कि इस के लिए भारत के गगननॉट्स की ट्रेनिंग रूस में दी जायेगी और यह करीब 11 महीनो तक चलेगी।इसके साथ भारतीय अंतरिक्ष अनुसधांन संगठन के प्रमुख डॉ. के सिवन ने इसकी जानकरी दी है और बताया था कि इसके लिए इंडियन

एयरफोर्स के चार जवानों का चयन भी किया जा चुका है।इसी माह जनवरी से अब ट्रेनिंग के लिए रूस भेजा जायेंगा।जिसके बाद इन अंतरिक्ष यात्रियों को भारत में क्रू मॉड्यूल की और अंतरिक्ष में समय गुजराने और कई प्रकार के अन्य कार्य करने की भी ट्रेनिंग दी जाने वाली है।

इन अंतरिक्ष यात्रियों को इसकी ट्रेनिंग बेंगलुरु के पास चलकेरा में होने की संभावना व्यक्त की गई है।वहीं अब इस बात की जानकारी सामने आई है कि भारत के गगनयान मिशन से पहले ले दो मानवरहित अंतरिक्ष मिशन भी किए जायेंगे।इसरो का यह पहला मिशन इस साल दिसंबर में किया जाने वाला है।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के इस मानवरहित मिशन में एक महिला रोबोट को गगनयान में बिठाकर अंतरिक्ष में भेजा जाएगा।इसकी जानकारी देते हुए इसरो के वैज्ञानिक डॉ. सैम दयाल ने बताया कि इस ​मानवरहित मिशन के लिए एक हाफ ह्यूमेनॉयड रोबोट बनाया गया है।

इसरो ने इस ह्यूमेनॉयड रोबोट का नाम व्योममित्र रखा है। इस ह्यूमेनॉयड रोबोट में मानव शरीर से संबंधित कुछ मशीनें लगाई गई है जो कि अंतरिक्ष में मानव शरीर की संरचना पर होने वाले बदलावों का अध्ययन और जानकारी उपलब्ध करायेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here