ISL-7 : एक और जीत का लक्ष्य लेकर ईस्ट बंगाल से भिड़ेगी मुम्बई (प्रीव्यू)

0

हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में अपनी पहली जीत दर्ज करने के बाद मुम्बई सिटी एफसी मंगलवार को बोम्बोलिम के जीएमसी स्टेडियम में होने वाले अपने अगले मैच में एससी ईस्ट बंगाल (एससीईबी) से भिड़गी, जहां उसकी कोशिश जीत की लय जारी रखने की होगी। कोच सर्जियो लोबेरा की मुम्बई सिटी ने अब तक प्रति मैच 511 पास खेले हैं जबकि एससीईबी ने अपने पहले मैच में 476 पास किए थे, जहां उसे मौजूदा चैम्पियन एटीके मोहन बागान से हार का सामना करना पड़ा था।

अपने दोनों मैचों में बॉल पजेशन पर दबदबा बनाए रखने के बावजूद मुम्बई की टीम गोल करने में संघर्ष करती हुई दिखाई दी है। आईसलैंडर्स की टीम ने दो मैचों में अब तक केवल एक ही गोल किया है।

टीम के लिए आक्रमण की जिम्मेदारी एक बार फिर से एडम ली फोंड्रे और हुगो बोउमस के कंधों पर होगी। यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या बार्थोलोमेव ओग्बेचे को शुरुआती इलेवन में मौका मिलता है कि नहीं।

लोबेरा का मानना है कि लीग में ईस्ट बंगाल का अनुभवहीन मायने नहीं रखता है क्योंकि उनकी टीम में गहराई है और उन्हें हराना मुश्किल होगा।

लोबेरा ने कहा, ” हमारा ध्यान प्रत्येक स्तर पर सुधार करने और पिछली गलतियों से सीखने पर है। कोच के रूप में मुझे जो चाहिए उसमें कुछ भी नहीं बदला है। मैं खेल और बॉल पजेशन पर नियंत्रण चाहता हूं और मौका बनाना चाहता हूं, लेकिन यह आसान नहीं है। वे बिना बॉल के भी वे एक संगठित टीम हैं। हमें आक्रमण और डिफेंस, दोनों में परिस्थितियों का फायदा उठाने की जरूरत है।”

यह मुकाबला मुम्बई सिटी के डिफेंडर मंदर राव देसाई के लिए भी एक यादगार मुकाबला होगा जब वह आईएसएल में अपने 100वां मैच खेलने उतरेंगे। देसाई आईएसएल में 100 मैच खेलने वाले पहले खिलाड़ी बनेंगे।

देसाई ने कहा, ” खिलाड़ी के लिए अधिक से अधिक मैच खेलना महत्वपूर्ण है। मैं वास्तव में इस पर गर्व महसूस कर रहा हूं। मैं अपनी यह उपलब्धि उन सभी साथियों और कोचों को समर्पित करता हूं, जिनके मार्गदर्शन में मैं इस लीग में खेला हूं।”

दूसरी तरफ, ईस्ट बंगाल को आईएसएल के अब तक अपने पहले मैच में हार मिली थी। कोच रॉबी फॉलर को एक बार फिर से एंथोनी पिल्किींगनट और मैटी स्टीनमैन से काफी उम्मीदें होगी, जिनका काम मुम्बई की डिफेंस को रोकना होगा।

फॉलर ने पहले मैच के बाद कहा था, ” जिस तरह से हम खेले, उससे हमने यह साबित किया हम और बेहतर कर सकते हैं। हम नए हैं। हमें अपनी तैयारियों के लिए कम समय मिला है।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleमोदी सरकार निरंकुश, बुराड़ी नहीं जाएंगे : farmer group
Next articleकिसानों की दुर्दशा देख मेडिकल कैम्प लगाने को मजबूर हुए Surgeons of Gurugram
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here