क्या गूगल आपको स्मार्ट बनने के बजाय बेवकूफ बना रहा है?

0
27

जयपुर। आज कल कुछ भी कैसा भी सवाल हो गूगल से पूछा जाता है। यहां तक की आपने जिंदगी के बारे में भी गूगल से पूछा जाता है। लोग तो इससे आत्महत्या कैसे करते है इसके बारे में भी पूछते है आज के इस जमाने में गूगल आपको सबसे बड़ा गुरू बन गया है। वैसे लोग इसको गूगल बाबा के नाम से पूकारते है। लेकिन इसके कारण से आपके दिमाग पर कितना गहरा असर पड़ रहा है आपको अंदाजा भी नहीं आप अपनी दिमाग की शक्तियों को खो रहे हो और कितनी तेजी से खो रहे हो इसका तो आपको अंजादा जा भी नहीं है। इसका आप पता लगा सकते हैं जैसे कि क्या आप हमेशा अटकलें लगाते रहते हैं

या अक्सर सामान्य से सवाल का उत्तर खोजने में मुश्किल होती हैं? अगर ऐसा है तो आप अपने दिमाग की शक्तियों को खो चुके हो जा खोने जा रहे हो। जी हां इसके बारे में डॉयचे वेले ने न्यूरोसाइंटिस्ट डीन बर्नेट ने कहा कि इसके लिए गूगल जिम्मेदार है गूगल पर मौजूद जानकारियों ने हमारी जिंदगियां आसान कर दी है। लेकिन दिमाग कि शक्तियों का कमजोर कर दिया है। इनके मुताबिक हर सवाल के जवाब गूगल पर खोजना दिमाग पर कितना असर डालता है आप नहीं जानते है। न्यूरोसाइंटिस्ट और लेखक डीन बर्नेट कहते है कि बुद्धिमता के लिए कई सांस्कृतिक और आनुवांशिक कारक जिम्मेदार होते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप जानकारी का इस्तेमाल कैसे करते हैं,

बजाय इसके कि आप कितनी बातें याद रख पाते हैं। गूगल हमें ज्यादा से ज्यादा जानकारियां दे रहा है, जिसे हमारा दिमाग निरंतर प्रोसेस करता रहता है इसलिए आसानी से कहा जा सकता है कि गूगल हमें ज्यादा स्मार्ट बना रहा है लेकिन इसका दूसरा पहलू देखते है तो ज्ञात होता है कि गूगल आपको स्मार्ट बनना के बजाय आपको कमजोर बना रहा है। इसके पीछ कारण है कि आप हर चीज़ के लिए गूगल का इस्तेमाल कर रहे है आपने दिमाग का इस्तेमाल बहुत ही कम कर रहे हैं जिससे आपकी याद करने की क्षमता बहुत ही डाउन हो चुकी हैं।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here