Iraq ने विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर लगाया प्रतिबंध

0

इराकी प्रशासन ने पड़ोसी देशों में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच देश में विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, स्वास्थ्य मंत्री हसन अल-तमीमी ने रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “स्वास्थ्य और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उच्च समिति ने राजनयिक मिशनों को छोड़कर, आगामी दिनों में किसी भी विदेशी को इराक में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देने का फैसला किया है।”

Kafeel Khan और योगी की लड़ाई पहुंची संयुक्त राष्ट्र

उन्होंने कहा कि यह निर्णय पड़ोसी देशों में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लिया गया है।

प्रमुख शिया अनुष्ठान अरबईन की तैयारियों के बारे में अल-तमीमी ने कहा कि मंत्रालय ने सभी इराकी प्रांतों में स्वास्थ्य संस्थानों के साथ समन्वय में एक एकीकृत योजना तैयार की है।

उन्होंने कहा, “हमें उम्मीद है कि अरबईन के बाद कोरोनोवायरस संक्रमण की संख्या में कोई वृद्धि नहीं होगी।”

इराकी स्वास्थ्य मंत्रालय ने 3,438 नए कोविड-19 मामलों की सूचना दी, जिससे देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 319,035 हो गई।

मंत्रालय ने संक्रामक बीमारी से 64 नई मौतों की पुष्टि भी की, जिससे इस बीमारी से मरने वाले कुल लोगों की संख्या बढ़कर 8,555 हो गई, जबकि 4,052 अधिक मरीज ठीक हुए, इसके साथ ही अब तक कुल 253,591 लोग ठीक हो चुके हैं।

इराक में फरवरी से महामारी को रोकने के लिए कई उपाय किए गए हैं जब देश में पहला कोरोनोवायरस का पहला मामला सामने आया था।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleJammu and Kashmir : स्कूल खुले लेकिन सुरक्षा की जिम्मेदारी ‘माता-पिता’ की
Next articleKareena Kapoor Birthday: हमेशा टॉप पर रहने वाली करीना कपूर ने एक भी नहीं दी सोलो हिट फिल्म
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here