आईपीएल-12 : आज हैदराबाद से भिड़ेगी चेन्नई प्रिव्यू

0

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम आज यहां एमए चिदंबरम स्टेडियम में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के एक मैच में सनराइजर्स हैदराबाद से भिड़ेगी।

चेन्नई को रविवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के हाथों एक रोमांचक मुकाबले में एक रन से करीबी हार का सामना करना पड़ा था।

चेन्नई को 2018 के बाद से पहली बार लगातार दो मैचों में हार का सामना करना पड़ा है।

बेंगलोर से मिले 162 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई ने 28 रन तक अपने चार विकेट गंवा दिए थे। लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 48 गेंदों पर पांच चौके और सात छक्कों के सहारे नाबाद 84 रन बनाकर मैच रोमांचक बना दिया था। टीम को एक गेंद पर दो रन बनाने थे लेकिन वह इससे चूक गईं।

चेन्नई की इस सीजन में 10 मैचों में यह तीसरी हार है। टीम अभी भी 14 अंकों के साथ तालिका में चोटी पर कायम है।

चेन्नई बेशक अपने घर में खेलेगी टीम के लिए हैदराबाद की चुनौती से पार पाना आसान नहीं होगा।

हैदराबाद ने अपने पिछले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स को नौ विकेट से करारी शिकस्त दी है और उस जीत से टीम का आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ है।

दोनों टीमें बुधवार को जब पिछले मुकाबले में एक-दूसरे से भिड़ी थी तो हैराबाद ने चेन्नई को पांच विकेट से हराया था और टीम के ऊपर उस हार का भी मनोवैज्ञानिक दबाव होगा।

दूसरी तरफ, हैदराबाद के पास अपने स्टार जोड़ी डेविड वार्नर और जॉनी बेयरस्टो की सेवाएं लेने का यह आखिरी मौका होगा। ये दोनों बल्लेबाज इस मैच के बाद अपनी-अपनी विश्व कप टीम के साथ जुड़ जाएंगे।

दोनों बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन का अंदाजा इसी आंकड़े से लगाया जा सकता है कि इस जोड़ी ने लीग के इस सीजन के अबतक के नौ मैचों में 733 रन बनाए हैं।

हालांकि टीम को अब उनकी कमी खलेगी। बेयरस्टो इस मैच के बाद इंग्लैंड की विश्व कप टीम में शामिल होने के लिए स्वदेश लौट जाएंगे और उसके बाद टीम को उनकी सेवाएं नहीं मिलेगी।

वहीं, दूसरी तरफ वार्नर भी आईपीएल के आखिरी चरण में आकर हैदराबाद का साथ छोड़ देंगे और आस्ट्रेलिया की विश्व कप टीम के साथ जुड़ जाएंगे।

वार्नर लीग के इस सीजन में नौ मैचों में 517 रनों के साथ शीर्ष पर चल रहे हैं। बेयरस्टो भी उनसे ज्यादा पीछे नहीं है और वह भी इतने ही मैचों में 445 रनों के साथ दूसरे नंबर पर काबिज हैं।

दोनो बल्लेबाजों ने कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ हुए मैच में 131 रन की साझेदारी कर टीम को नौ विकेट से शानदार जीत दिलाया था।

हैदराबाद इस समय नौ मैचों में पांच जीत और चार हार के साथ 10 अंकों की बदौलत चौथे नंबर पर है।

टीमें (सम्भावित) :

चेन्नई : अंबाती रायडू, शेन वाटसन, सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान और विकेटकीपर), केदार जाधव, रविंद्र जडेजा, ड्वायन ब्रावो, दीपक चहर, शार्दूल ठाकुर, हरभजन सिंह, इमरान ताहिर, मुरली विजय, ध्रुव शौरे, फाफ डु प्लेसिस, ऋतुराज गायकवाड़, मिशेल सैंटनर, डेविड विली, सैम बिलिंग्स, समीर, मोनू कुमार, कर्ण शर्मा, केएम आसिफ, मोहित शर्मा।

हैदराबाद : भुवनेश्वर कुमार (कप्तान), केन विलियम्सन, डेविड वार्नर, अभिषेक शर्मा, जॉनी बेयरस्टो, खलील अहमद, रिकी भुई, बासिल थम्पी, श्रीवत्स गोस्वामी, मार्टिन गुप्टिल, दीपक हुड्डा, सिद्धार्थ कौल, मोहम्मद नबी, शहबाज नदीम, टी. नटराजन, मनीष पांडे, यूसुफ पठान, राशिद खान, रिद्धिमान साहा, संदीप शर्मा, विजय शंकर, शाकिब अल हसन और बिली स्टानलेक।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleमध्य प्रदेश में राहुल गांधी और अमित शाह की जनसभाएं आज
Next articleबिहार में आंशिक बदली छाई
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here