आईपीएल-11 : रोमांचक जीत ने बेंगलोर की उम्मीदों को रखा जिंदा (राउंडअप)

0
108

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में गुरुवार को एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए बेहद रोमांचक मैच में मेजबान रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने सनराइजर्स हैदराबाद को 14 रनों से हरा दिया।

इस जीत के साथ ही बेंगलोर ने अपनी प्लेऑफ की उम्मीदों को जिंदा रखा है।

हैदराबाद ने टॉस जीतकर बेंगलोर को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। इस सीजन में अभी तक सबसे मजबूत माना जाने वाला हैदरबाद का गेंदबाजी आक्रमण अब्राहम डिविलियर्स (69), मोइन अली (64), कोलिन डी ग्रांडहोम (40) की तूफानी पारियों के सामने बिखर गया और बेंगलोर ने 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 218 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। हैदराबाद ने बेहद संघर्ष किया लेकिन वो पूरे ओवर खेलने के बाद तीन विकेट खोकर 204 रन ही बना सकी।

इस जीत के बाद बेंगलोर आठ टीमों की तालिका में पांचवें स्थान पर आ गई है। उसके 13 मैचों में 12 अंक हैं। मुंबई और राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के भी 12-12 अंक हैं। प्लेऑफ में जाने के लिए बेंगलोर को राजस्थान के खिलाफ शनिवार को होने वाला मैच हर हाल में जीतने के अलावा दूसरी टीमों के हारने की भी दुआ करनी होगी।

मजबूत लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेहमान टीम के लिए कप्तान केन विलियमसन ने सबसे ज्यादा 81 रन बनाए। उन्होंने अपनी संघर्ष भरी पारी में 42 गेंदों का सामना किया और सात चौके तथा पांच छक्के लगाए। उनके अलावा मनीष पांडे ने 38 गेंदों में सात चौके और दो छक्कों की मदद से नाबाद 62 रन बनाए।

इन दोनों के रहते टीम लगातार जीत के रास्ते पर थी। आखिरी ओवर में हैदराबाद को 20 रनों की दरकार थी, लेकिन मेहमान टीम ने पहली ही गेंद पर विलियमसन का विकेट खो दिया और यहां से वह हार के लिए मजबूर हो गई। मनीष नाबाद रहते हुए भी टीम को जीत नहीं दिला सके।

शिखर धवन (18) और एलेक्स हेल्स (37) ने हैदराबाद के लिए पहले विकेट के लिए 47 रन जोड़े। युजवेंद्र चहल ने छठे ओवर की पहली गेंद पर धवन को अपनी ही गेंद पर कैच कर मेहमान टीम को पहला झटका दिया।

हेल्स ने कप्तान के साथ तेजी से रन बटोरे और आठ ओवरों में टीम का स्कोर 64 रन पहुंचा दिया। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर अली की गेंद पर डिविलियर्स ने हेल्स का शानदार कैच पकड़ बेंगलोर को दूसरी सफलता दिलाई।

यहां से विलियमसन ने मनीष के साथ मिलकर तेजी से रन बटोरने चालू रखे और टीम को जीत के रास्ते पर बनाए रखा। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 67 गेंदों में 135 रनों की पारी खेली। हालांकि लक्ष्य इन दोनों की पहुंच से ज्यादा साबित हुआ और आखिरी ओवर में टीम जरूरी रन नहीं बना सकी।

इससे पहले, डिविलियर्स और अली ने हैदराबाद के गेंदबाजों को जमकर धोया। इन दोनों के अलावा अंत में कोलिन डी ग्रांडहोम की 17 गेंदों में 40 रन और युवा बल्लेबाज सरफराज खान की आठ गेंदों में खेली गई 22 रनों की पारियों का भी योगदान बेंगलोर को 200 पार पहुंचाने में अहम रहा।

पहले ओवर की आखिरी गेंद पर मेजबान टीम को पहला झटका लगा। पार्थिव पटेल (1) को संदीप शर्मा ने सिद्धार्थ कौल के हाथों कैच करा पवेलियन भेज दिया। कप्तान कोहली को राशिद खान ने अपने चंगुल में फांसते हुए 38 के कुल स्कोर पर बोल्ड कर दिया। कोहली ने दो चौकों की मदद से 12 रन बनाए।

यहां डिविलियर्स और अली ने बेंगलोर के लिए तेजी से रन बटोरने का सिलसिला शुरू किया। मोइन का बल्ला काफी मैचों से शांत था जो इस मैच में चल पड़ा और उन्होंने 13वें ओवर की पहली गेंद पर चौका मार आईपीएल में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। एक ओवर पहले ही डिविलिर्यस ने भी चौका मार अपने पचास रन पूरे किए थे।

राशिद किसी तरह खतरनाक डिविलियर्स को पवेलियन भेजने में सफल रहे। हालांकि इसमें शिखर धवन द्वारा सीमारेखा के पास पकड़े गए बेहतरीन कैच का ज्यादा योगदान रहा। डिविलियर्स का विकेट 145 के कुल स्कोर पर गिरा। अगली गेंद पर अली ने राशिद पर चौका जड़ा और उससे अगली गेंद पर विकेट के पीछे श्रीवत्स गोस्वामी के हाथों लपके गए।

डिविलियर्स और अली के जाने के बाद भी हालांकि बेंगलोर की रनगति पर असर नहीं पड़ा और कोलिन ने रनों की बरसात जारी रखी। वह आखिरी ओवर में राशिद के शानदार कैच के कारण पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी पारी में चार छक्के और सिर्फ एक चौका लगाया। सरफराज नाबाद रहे। उन्होंने तीन चौके और एक छक्का लगाया।

मेहमान टीम के लिए राशिद ने तीन सफलताएं हासिल कीं जबकि सिद्धार्थ के हिस्से दो विकेट आए। संदीप को एक विकेट मिला।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here