INDIA JAPAN : भारतीय विदेश मंत्री ने जापान को बताया मूल्यवान साझेदार

0

भारत के विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला ने एक बड़ा बयान हल ही में दिया। उन्होंने  भारत-जापान संबंधों पर प्रकाश डालते हुए कहा की ये  “इतिहास में निहित हैं और सामान्य मूल्यों पर आधारित हैं” इसके बाद हर्ष ने आगे कहा कि दोनों ही देश “महामारी के बाद की दुनिया में लचीलापन और विश्वसनीय मूल्य श्रृंखला” का निर्माण करने के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं। विदेश सचिव द्वारा दिया गया ये बयान ऐसे समय आया है जब  चीन लगातार आक्रमक हो रहा है और वहीँ भारत और जापान के बीच निकटता बढ़ रही है। जापान और भारत के व्यापारिक संबंधो की बात करे तो जापान भारत में चौथा सबसे बड़ा निवेशक है और लगभग 1400 जापानी कंपनियां भारत में मौजूद हैं।

भारत के उत्तर-पूर्व में भारत-जापान सहयोग पर एक कार्यक्रम में बोलते हुए, विदेश सचिव ने कहा, “जापान हमारे लिए एक मूल्यवान साझेदार है, जिसने महामारी के बाद की अंतर्राष्ट्रीय सिस्टम को नेविगेट करने और साझे प्रयासों के जरिये पूर्वोत्तर सहित भारत के सभी क्षेत्र में नए अवसरों को पैदा करने के हमारे प्रयासों में योगदान दिया है।”

इस दौरान जापानी के और से भी उनके प्रवक्ता सतोशी सुजुकी भी कार्यक्रम में उपस्थित थे।  उन्होंने इस दौरान कहा, “जमीन पर, जापान सक्रिय रूप से पूर्वोत्तर क्षेत्र के भीतर और पड़ोसी देशों के साथ संपर्क को बढ़ावा दे रहा है”, हमारे राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं को चाहे वो असम में हो, मेघालय, मिजोरम या त्रिपुरा हो उनको बांग्लादेश की सीमा तक बढ़ाया जाएगा। बता दे की जापान और भारत बांग्लादेश में भी सड़क कनेक्शन सुधार परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here