अमेरिकी दबाव के चलते ईरान से तेल आयात आधा करेगा भारत – रिपोर्ट

0
137

जयपुर, अमेरिका ने सभी देशों से कहा है कि वह ईऱान पर लगाए प्रतिबंधों का पालन करे, इसमे किसी भी तरह की कोई रियायत नहीं की जाएगी। इसी के चलते भारत की रिफाइनरियां इस साल सितंबर अक्टूबर के तेल आयात मे कटौती करेगी। इसी के चलते ईरान से 12 बिलियन बैरल से भी कम तेल आयात किया जाएगा। वहीं अमेरिका ने कहा है कि सभी देश चार नवंबर तक ईरान से तेल आयात शन्य कर ले।Image result for ईरान तेल आयात

आपको बता दें की सऊदी अरब व इराक के बाद ईऱान सबसे बडा तेल आपूर्तीकर्ता देश है। ईरान से अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 के दौरान ईरान ने भारत को 1.84 करोड़ टन कच्चे तेल की आपूर्ति की गई थी। समाचार एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक जून में तेल मंत्रालय ने रिफाइनरियों कहा है कि नवंबर के महीने तक ईरान से ‘शून्य’ आयात के लिए तैयार रहें। इससे पहले अमरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने पिछले सप्ताह कहा था कि अमेरिका प्रतिबंधों पर छूट देने को लेकर विचार कर सकता है,Image result for ईरान तेल आयात

लेकिन उन्होंने साफ कह दिया था कि यह केवल सीमित अवधि के लिए ही किया जाएगा। वहीं अमेरिका के प्रतिबंधों को देखते हुए इंडियन ऑयल तेल कंपनी ने ईरान से 8 लाख टन तेल की बुकिंग करा ली है जिसकी डिलवरी को लेकर आशंका बनी हुई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अऩुसार आईओसी सितंबर व अक्टूबर केवल 6 मिलियन बैरल तेल का आयात चाहता है।Image result for आईओसीएल

वहीं मंगौल रिफाईनरी को महज तीन मिलियन बैरल तेल की आवश्यक्ता है। विशेषज्ञों का कहना है कि अमेरिका प्रतिबंधों के बाद खुद के देश से तेल आयात का ऑफर दे सकता है। क्योंकि ईरान से तेल आयात बंद करने के बाद भारत को तेल मुसिबतों का सामना करना पडेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here