भारत ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 31 जुलाई तक लगाया प्रतिबंध, पहले थी 15 तारीख तक रोक

0

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू किया गया था। इसके बाद से देश में रेल, फ्लाइट्स और परिवहन सहित तमाम गतिविधियों पर रोक लगाई गई थी। इससे लॉकडाउन के दौरान औद्योगिक गतिविधियां पूरी तरह से ठप हो गई थीं। इसका सीधा असर देश की इकोनॉमी पर पड़ा है। इससे केंद्र सरकार ने फिर से धीरे-धीरे लॉकडाउन अनलॉक की ओर लेकर गई। इस बीच रेल, परिवहन और घरेलू उड़ानों को फिर से छूट दी गई। हालांकि, दुनियाभार में कोरोना महामारी का प्रकोप होने से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर मार्च से रोक लगी हुई है।

अब अंतराष्ट्रीय उड़ानो पर लगे प्रतिबंध को भारत सरकार ने 31 जुलाई तक बढ़ा दिया है। इससे पहले इन उड़ानों पर 15 जुलाई तक रोक लगाई गई थी। डीजीसीए के जारी आदेश के अनुसार, सरकार के इस फैसले का असर, अंतरराष्ट्रीय कार्गो फ्लाइट्स और विशेष उड़ानों पर नहीं पड़ेगा।

देश में 25 मई से घरेलू उड़ानों को शुरू कर दिया गया था। इसके लिए 21 मई को सरकार ने गाइड लाइन जारी की थी। देश में कोरोना वायरस का संक्रमण कम नहीं हुआ है। कोराना के बढ़ते मामलों को लेकर इंटरनेशनल फ्लाटस पर सरकार ने फिर से रोक लगाई है।

airlines-offer

देश के करीब 20 हवाई अड्डों से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं। इन एयरपोर्ट्स से 55 देशों के 80 शहरों में नागिरक सफर कर सकते हैं। दुनिया के कई देश कोरोना की चपेट में आए हुए हैं। इसके चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन को बंद कर रखा है। एक रिपोर्ट के अनुसार, साल 2019 में भारत में करीब 7 करोड़ लोगों ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से सफर किया है।

Read More….
कानपुर: हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस पर फायरिंग, DSP सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद
India-China border dispute: चीन से तनाव के बीच लद्दाख के नीबू पोस्ट पहुंचे PM मोदी, जवानों से की मुलाकात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here