संयुक्त राष्ट्र में मिली भारत को बड़ी जीत, भारी बहुमत के साथ मानवाधिकार परिषद में निर्वाचित

0
61

जयपुर, संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष मानवाधिकार संस्था में भारत को तीन साल के लिए सदस्य चुना गया है। भारत को एशिया-प्रशांत श्रेणी में सबसे अधिक 188 मत मिले हैं। बता दें कि भारत का कार्यकाल जनवरी 2019 से आरंभ होगा।संयुक्त राष्ट्र की 193 सदस्यों की महासभा में मानवाधिकार के नए सदस्यों का चयन किया गया था। इसके लिए गुप्त मतदान के जरीय 18 सदस्यों का निर्वाचन किया गया है।

मतदान में पूर्ण गौपनियता बरती गई है। जहां एशिया प्रशात देशों ने भारत को सबसे अधिक वोट दिया। नियमों के अनुसार किसी देश को सदस्यता हांसिल करने के लिए कम से कम 97 मतों की आवश्यक्ता होती है। बता दें कि एशिया-प्रशांत क्षेत्र से पांच सीटे मांगी गई थी जिसमें  बांग्लादेश, फिजी और फिलीपीन के साथ भारत ने अपना नामांकन भरा था।

5 सीटों के लिए 5 ही दावेदारों के होने की वजह से सभी देशों के उम्मीदवारों का चयन होना लाजमी था। मामले को लेकर संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने ट्वीट कर कहा था कि बांग्लादेश, फिजी, भारत और फिलीपीन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में पांच सीटों के लिए दावा पेश किया है। नवनिर्वाचित सदस्यों का कार्यकाल 1 जनवरी से शुरू होगा जो तीन साल तक रहेगा।

बता दें कि भारत इससे पहले भी संयुक्त राष्ट्र महासभा मे दो बार सदस्य रह चुका है। भारत का पिछला कार्यकाल 31 दिसंबर, 2017 को खत्म हुआ था। इसी के साथ भारत लगातार सदस्य चुनैं जाने की शर्त पूरी नहीं कर रहा था क्योकि इससे पहले वह दो बार संय़ुक्त मानवाधिकार में दो बार सदस्य रह चुका था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here