India-China Standoff: नई साजिश की तैयारी में ड्रैगन, LAC के पास चीनी सैनिकों को किया तैनात…

0

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले 9 महीने से भारत और चीन के बीच जारी तनाव से कुछ राहत मिली है। दोनों देशों की सेनाएं पैंगोंग त्सो के उत्तरी और दक्षिणी किराने से पीछे हट गई हैं। वहां पिछले कई महीनों से तैनात किे गए हथियारों को भी वापस ले जाया गया है। लेकिन पैंगोंग से पीछे हटे जवानों को चीन ने एलएसी के पास ही तैनात रखा है। सामने आई सैटेलाइन की ताजा तस्वीरों में दावा किया गया है कि चीन ने पीएलए जवानों को रुटोग काउंटी बेस पर भेज दिया है।

इसके बाद चालबाज ड्रैगन की मंशा पर फिर से सवाल खड़े होने लगे हैं। रुटोग का यह बेस पैंगोंस त्सो इलाके से सिर्फ 100 किलोमीटर और मोल्डो से 110 किलोमीटर दूर स्थित है। इस पर साल 2019 से काम चल रहा था। यहां पर चीन ने पीएलए को मजबूत करने के इरादे से हाल ही में एक हेलीपोर्ट का भी निर्माण किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रुटोग मिलिट्री बेस की ताजा सैटेलाइट इमेज बताती है कि पिछले हफ्ते भारत से सहमति होने पर हटाए गए कई चीनी जवानों को रिलोकेट किया गया है।

यह बेस भविष्य में पैंगोंग इलाके के लिए चीनी सेना की गतिविधियों में मददगार साबित हो सकता है। पैंगोंग सो से हुए डिसइंगेजमेंट के बाद अब भारत और चीन के बीच अन्य इलाकों से डिसइंगेजमेंट पर बातचीत हो रही है। हाल में दोनों देशों के सैन्य कमांडर स्तर पर बैठक हुई थी। करीब 16 घंटे चली इस मीटिंग में गोगरा हाइट्स, हॉट स्प्रिंग और डेपसांग को लेक भी चर्चा हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here