गर्भावस्था के दौरान तनाव की बढ़ती समस्या, गर्भवती महिलाएं इन बातों का रखें विशेष ध्यान

0

जयपुर।देश में बढ़ते कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए 14 अप्रैल तक लॉकडाउन घोषित किया जा चुका है।ऐसे में गर्भवती महिलाओं की मुश्किलें काफी बढ़ गई है।क्योंकि गर्भवस्था के दौरान महिलाओं किसी के सहारे की अधिक आवश्यकता होती है और सोशल डिस्टेंस के कारण दूरी बनाए रखना जरूरी बना हुआ है।वहीं गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक और मानसिक बदलाव के कारण भी महिलाओं में तनाव की समस्या बढ़ती है।गर्भवती महिला के बढे तनाव का सीधा असर गर्भ में पल रहें बच्चें की इम्यूनिटी सिस्टम पर दिखाई देता है।

इसलिए गर्भवती महिलाओं को अपने शरीर के बढ़ते तनाव को कम करना आवश्यक है जिससे बच्चें की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत किया जा सकें। गर्भवती महिलाएं अपना तनाव कम करने के लिए प्रतिदिन योगासन का इस्तेमाल करें।

आप नवजात शिशु को पर्याप्त पोषण देने के लिए अपनी डाइट में सेब, गाजर, ब्रोकली और ड्राई फ्रूट्स का सेवन अधिक करें। इसके अलाव नवजात शिुश की रोग प्रतिरोधक क्षमता बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए स्तनपान करवाना बेहद आवश्यक होता है।नवजात शिशु को वायरल इंफेक्शन के संक्रमण से बचाने के लिए पर्याप्त नींद देना भी आवश्यक होता है।

पर्याप्त नींद से नवजात शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।इसलिए शिशु को करीब 18 घंटे की नींद अवश्य दें।बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए विटामिन—डी बेहद आवश्यक होता है।इसलिए गर्भवती महिला अपने और शिशु के शरीर को विटामिन—डी देने के लिए सूर्य की गुनगुनी धूप का सेवन अवश्य करें।

विटामिन—डी गर्भवती महिला के शरीर की हड्डियों को और नवजात शिशु की मसल्स को मजबूत बनाने में भी मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here