देश के इन मंदिरों में हैं भगवान की अलौकिक शक्ति, पूरी होती है हर मुराद, नहीं लौटता कोई खाली हाथ

0
23

आज भी देश विदेश से लोग हमारे भारत देश में आते हैं और यहां पर भगवान के दर्शन करके अपने मन की मुराद को पूरा करते हैं । आज हम आपको कुछ ऐसे ही मंदिरो के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर दर्शन करने से आपकी हर इच्छा पूरी होती है ।

दोस्तों, पुरी का श्री जगन्नाथ मंदिर एक विश्व विख्यात हिन्दू मंदिर है, आपको बता दें कि यह मंदिर भगवान जगन्नाथ को समर्पित है। इस मंदिर को हिन्दुओं के चार धाम में से एक गिना जाता है। पुराणों में जगन्नाथ पुरी को धरती का बैकुंठ कहा गया है । आपको बता दें​ कि, ब्रह्म और स्कंद पुराण के अनुसार, पुरी में भगवान विष्णु ने पुरुषोत्तम नीलमाधव के रूप में अवतार लिया था ।

उत्तराखंड में एक ऐसा स्थान है, जहां मां दुर्गा साक्षात् प्रकट हुई थीं। आपको बता दें कि यह पूरी दुनिया में तीसरा ऐसा मंदिर है जहां पर खास चुम्बकीय शक्तियां मौजूद हैं इसके इन्हीं चम्तकारों को देखकर खुद वैज्ञानिक भी हैरान हैं । मां दुर्गा के इस मंदिर में अनोखी शक्तियां मौजूद हैं

गुजरात के पंचमहल ज़िले में स्थित ‘पावागढ़ महाकाली मंदिर’ एक शक्तिपीठ है इस स्थान को आज भी जागृत माना जाता है। बताया जाता है कि यहां पर देवी सती के दाहिने पैर की उंगलियां गिरी थीं। जिसके कारण ये मंदिर शक्ति पीठ में गिना जाता है ।

राजस्थान के दौसा जिले के पास दो पहाडिय़ों के बीच बसा हुआ मेहंदीपुर नामक स्थान है। यहां पर एक बहुत विशाल चट्टान में हनुमान जी की आकृति स्वयं ही उभर आई थी। इसे ही श्री हनुमान जी का स्वरूप माना जाता है। यहां आनेवाले भक्तों की हर पीड़ा और संकट को हनुमानजी हर लेते हैं इसके साथ ही आपको बता दें कि यहां पर भूत,प्रेत आत्माओं से छुटकारा भी मिलता हैं ।

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में पहाड़ियों के बीच हिंगलाज माता का मंदिर बसा है। 51 शक्ति पीठ में सबसे प्रमुख है शक्तिपीठ। ऐसा कहा जाता है कि यहां पर माता सती का सिर गिरा था ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here