गुटखा घोटाले मामले में पांच लोग गिरफ्तार

0
158

जयपुर। गुटखा घोटाले के सिलसिले में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने गुरुवार को तमिलनाडु खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन के साथ एक केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग के अधिकारी सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारी बुधवार को चेन्नई, तिरुवल्लूर, तुतीकोरिन, गुंटूर, मुंबई और बेंगलुरू में 35 स्थानों पर की गई। ये सभी गिरफ़्तारी स्वास्थ्य मंत्री विजयबास्कर के निवास, तमिलनाडु पुलिस महानिदेशक टीके राजेंद्रन, पूर्व चेन्नई पुलिस आयुक्त एस जॉर्ज और पूर्व राज्य मंत्री बी.वी. रामाणा के यहां रेड पड़ने के बाद हुई है।

गुरुवार की सुबह सीबीआई ने जयम इंडस्ट्रीज, एवी माधव राव और उमा शंकर गुप्ता, खाद्य सुरक्षा अधिकारी पी सेंथिल कुमार और केंद्रीय उत्पाद शुल्क अधीक्षक एन के पांडियन को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है की गिरफ्तार किए जाने से पहले बुधवार को सभी के साथ पूछताछ की गई थी।

बताया जा रहा है की  जयम इंडस्ट्रीज के प्रमोटर राव, गुप्ता और श्रीनिवास राव नें राज्य में गुटका बंद होने के बाद भी इसे अलग कंपनी के नाम से बेचा और इसके लिए  अधिकारियों, राजनेताओं और नियामक प्राधिकरणों को कथित रूप से प्रभावित करने के लिए पैसे दिए।

आपको बात दे की 8 जुलाई, 2017 को आयकर अधिकारियों ने 250 करोड़ रुपये के कर चोरी के आरोप में जयम इंडस्ट्रीज के परिसर पर छापा मारा। छापे के दौरान अधिकारियों ने गुटखा निर्माताओं द्वारा कथित तौर पर भुगतान किए गए खातों के नाम वाली एक डायरी मिली थी, जिसके चलते इस कार्यवाही को अंजाम दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here