वायुसेना 44 साल पुराने मिग-21 उड़ा रही है, इतने साल तो कोई कार नहीं चलाता: वायुसेना प्रमुख

0
54

जयपुर। भारतीय वायुसेना ने लड़ाकू विमानों की कमी पर कहा है कि भारतीय वायु सेना 44 साल पुराना 21 चला रही है और आज की तारीख में कोई इतने समय तक अपनी गाड़ी और कार को भी उपयोग में नहीं लेता है उसके समय से भारतीय वायु सेना अपने दिमाग का इस्तेमाल कर रही है.

आपको बता दें कि मंगलवार को वायुसेना ने द्वारा आयोजित सेमिनार में एयर चीफ मार्शल ने इस बात को कहा है और उन्होंने कहा है कि आज भी हम 44 साल पुराने मिग-21 को उड़ा रहे हैं लेकिन कोई भी उस जमाने की कार को आज की तारीख में भी नहीं चला रहा है.

मीडिया में आई जानकारी के अनुसार वायु सेना का मिग-21 विमान चार दशक से ज्यादा पुराना हो गया है लेकिन अभी भी यह विमान वायुसेना की रीड की हड्डी बनने हुआ है वह आपको बता दें कि दुनिया में शायद ही कोई देश इतना पुराना लड़ाकू विमान औरतें वजह वायुसेना के पास में किस-किस के विकल्प के तौर पर भी कोई ईमान नहीं है.

रूस में बने 21 साल में भारतीय सेना का हिस्सा बने थे वही अक्सर दुर्घटना ग्रस्त होने के चलते इन्हें अप्लाई फॉर पन कहा जाने लगा था. वही आपको बता दें कि अब तक वायु सेना के करीब 500 मिग-21 हादसे का शिकार हो चुके हैं कि वहीं पिछले एक दशक में करीब 170 मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं.

वही धनवा दिल्ली के एयरपोर्ट से ऑडिटोरियम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी वायुसेना के आधुनिकीकरण और स्वदेशी करण को लेकर एक सेमिनार में बोल रहे थे. वहीं इसके बारे में उन्होंने यह भी बताया कि मैं गीत चार दशक से ज्यादा पुराना हो चुका है लेकिन अभी वायु सेना की रीड की हड्डी बना हुआ में लड़ाकू विमान उड़ा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here