मैंने दक्षिणी फिल्मों और बॉलीवुड में उत्पीड़न झेला है : अमायरा दस्तूर

0
115

भारत में ‘मी टू’ आंदोलन की शुरुआत करने वाली अभिनेत्री तनुश्री दत्ता के साथ कई बड़ी हस्तियां आगे आकर अपने कटु अनुभव साझा करने लगी हैं। अभिनेत्री अमायरा दस्तूर का कहना है कि वह भी पुरुष और महिलाओं के हाथों उत्पीड़न का शिकार हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि उनके पास नाम लेने और उन्हें शर्मसार करने की हिम्मत नहीं है।

अमायरा ने 2013 में ‘इसक’ के साथ अपने बॉलीवुड सफर की शुरुआत की थी, जिसके बाद वह ‘मिस्टर एक्स’, ‘कलाकंदी’ और ‘कंग फू योगा’ जैसे कई हिंदी फिल्मों में दिखाई दी थी।

आईएएनएस के साथ एक ईमेल साक्षात्कार में जब अमायरा से पूछा गया कि क्या उन्हें भी अपने सफर के दौरान कास्टिंग काउच या उत्पीड़न का सामना करना पड़ा, तो उन्होंने कहा, “सच कहूं, तो मुझे दक्षिण या बॉलीवुड में कास्टिंग काउच का सामना नहीं करना पड़ा। लेकिन हां, मैंने दोनों जगहों पर अपने हिस्से के उत्पीड़न का सामना किया है। मुझमें उनका नाम लेने की हिम्मत नहीं है, क्योंकि वे शक्तिशाली लोग हैं, जो मुझे लाचार होने का अहसास कराते रहते हैं।”

उन्होंने हालांकि कहा कि एक दिन निश्चित रूप से उत्पीड़कों के चेहरे सामने लाएंगी।

अमायरा ने कहा, “लेकिन जब तक मैं सुरक्षित और सकुशल महसूस नहीं करती, तब तक मैं किसी का नाम नहीं लूंगी। वे वास्तव में जानते हैं कि वे कौन हैं और उन्होंने क्या किया है। अब के लिए जो मैं कहना चाहती हूं वह यह है कि उन्हें भेदभाव करने के तरीकों को बंद कर देना चाहिए, क्योंकि अब निश्चित रूप से बदलाव की हवा बहने वाली है और उनकी स्थिति उनके कर्मो से उन्हें बचाने के लिए काफी नहीं है।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here