सैंकडों और लोगों की नौकरियों पर चली कुल्हाडी

0

जयपुर। हाल ही में खबर आई है कि महिन्द्रा एन्ड महीन्द्रा ने बताया है कि कंपनी ने मंदी और कम मांग के चलते 1500 कर्मचारीयों को नौकरी से निकाल दिया है कंपनी की तरफ से ये बयान कंपनी के मैनेजिंग डोयेरेक्टर पवन गोयंका ने दिया ।

आपको बता दें कि कंपनी के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका ने पत्रकारों से बात करते हुऐ कहा कि ऑटो निर्माता ने इस साल 1 अप्रैल से लगभग 1,500 अस्थायी कर्मचारियों को नौकरीयों से निकाल दिया है, आगे उन्होने यह भी कहा कि अगर मंदी जारी रहती है तो वह अधिक कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के लिए मजबुर होंगे।

उन्होंने आगे बात करते हुऐ कहा कि नौकरीयों की ज्यादा चिंता डीलरशिप और सेल्स के लेवल पर होगी अगर मंदी चलती है तो इस क्षेत्र में एक बडी तादाद में नौकरीयां जा सकती है। गोयंका श्रीलंका के आइडियल मोटर्स के साथ संयुक्त उद्यम सहयोग में महिंद्रा एंड महिंद्रा की पहली पूरी तरह से ऑटोमोटिव असेंबली यूनिट के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे।

ये जानना रोचक होगा कि महिंद्रा आइडियल लंका प्रा लिमिटेड शनिवार को कोलंबो के पास वेलिपेना में स्थित स्थानीय असेंबली प्लांट ने अपना पहला उत्पाद, कॉम्पैक्ट एसयूवी, KUV100 पेट्रोल K6 + वेरिएंट के साथ शुरू किया। इस प्लांट के निकट भविष्य में अन्य वेरिएंट निर्माण करने की भी पुरी संभावना है।

गौरतलब है कि मंदी की मार से सभी बडी कंपनियां परेशान है मांग न होने से उनके उत्पाद डीलरशिप लेवल पर ही पडे है और वाहन निर्माताओं को प्रोडक्शन चालू रखने से भारी नुकसान उठाना पड सकता है यही कारण है कि कंपनी या तो कई दिन के लिए अपने कई प्लांट को बंद कर रही है या एक ही शिफ्ट में काम कर रही है जिससे  हजारों ग्राउंड लेवल कर्मचारीयों को नौकरी से हाथ धोना पड सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here