कैसे पहचाने की कहीं आपका बच्चा भी तो नही है तनाव का शिकार ?

आज के समय में हम बच्चों मे काफी बदलाव देखते हैं । एक समय था की जब माँ बाप बच्चों को कुछ भी कर दे तब उनको उस बात से परेशानी नही रहती थी

0
39

जयपुर । आज के समय में हम बच्चों मे काफी बदलाव देखते हैं । एक समय था की जब माँ बाप बच्चों को कुछ भी कर दे तब उनको उस बात से परेशानी नही रहती थी पर । आज के समय में खुद माँ बाप ही इस बात का ख्याल नहीं रखते हैं की और उन पर बिना बात ही प्रेशर बनाए रहते हैं । स्कूल के कारण उन पर लगातार प्रेशर बना रहता है तो कभी उनकी  प्र्फ़ोर्मेंस को ले कर बना रहता है ।

बच्चो के जीवन में आज मजे की जगह कोंपीटीशन ने लेली हैं और मस्ती की जगह तनाव ने । उनकी जिंदगी मजेदार होने की जगह रोबोटिक्स जैसी हो गई है । जिसके कारण ज़्यादातर लोग अपने बच्चों की खुशी , हंसी को खो चुके हैं । और इतना ही नही आज लोग अपने बच्चों को भी खोते जा रहे हैं हैं । आज हम आपको बताने जा रहे हैं की आप कैसे अपने बच्चे के तनाव को समझ सकते हैं और यह पता लगा सकयते हैं की वह तनाव का शिकार है ।

बच्चों को तनाव में होने पर बार-बार गुस्सा आता है। वे अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का सही तरीका नहीं जानते हैं। अगर आपके बच्चे को अक्सर गुस्सा आ रहा है, तो ऐसा कुछ हो सकता जो उसे निश्चित रूप से परेशान कर रहा है।

जब हम तनाव में होते हैं तो हम आमतौर पर अपने नाखून चबाते हैं। बच्चों के साथ भी ऐसा ही है। जब बच्चे तनावग्रस्त होते हैं या चिंतित होते हैं । जब बच्चा तनाव में होता है तो वह या तो अधिक खाने लगता है या कुछ भी नहीं खाता। अत्यधिक खाने या भूख की कमी बच्चों में तनाव के कुछ सामान्य लक्षण हैं।

बच्चों को अक्सर मूड स्विंग्स होते रहते हैं। अगर आपके बच्चे को बहुत मूड स्विंग्स हो रहे हैं और आप अक्सर उन्हें गुस्से में देखते हैं, तो आपको उनसे बात करनी चाहिए। अगर उनके व्यवहार में बड़े बदलाव दिख रहे हैं तो आपको उन पर ध्यान देना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here