ज्योतिषविज्ञान: भाग्य को समझने में कितनी कारगर साबित होती है कुंडली, जानिए

0

हर मनुष्य के जीवन में ज्योतिषशास्त्र और कुंडली विशेष महत्व और स्थान रखती हैं वही ज्योतिषशास्त्र एक विज्ञान माना जाता हैं और विज्ञान तर्कों व तथ्यों पर आधारित होता हैं ऋषि मुनियों ने ज्योतिषशास्त्र में निहित ज्ञान से व्यक्ति के जीवन के कल्याण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं ज्योतिष विज्ञान की मानें तो किसी भी मनुष्य की कुंडली से उसके भाग्य के बारे में पता लगाया जा सकता हैं मगर कई लोगो के मन में यह सवाल आता हैं कि क्या वाकई कुंडली से किसी भी मनुष्य का भाग्य देखा या समझा जा सकता हैं तो आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

वही जन्म कुंडली किसी व्यकित के जन्म विवरण का लेखा जोखा होता हैं इसमें एक तकर से मनुष्य के जन्म के समय आकाश मंडल में ग्रह और नक्षत्र की स्थिति का सचित्र वर्णन होता हैं वही कुंडली के द्वारा ही मनुष्य का नामकरण, उपनयन, विवाह आदि संस्कार किया जाता हैंजन्मपत्रिका को देखकर ही ज्योतिष उस मनुष्य के स्वभाव, आचरण, नौकरी, आर्थिक, धन, परिवार, विवाह और प्रेम जीवन के अलावा अन्य महत्वर्पूा पहलुओं से जुड़ी सटीक भविष्यवाणी कर सकता हैं। बता दें कि मनुष्य के जन्म का समय, यानी व्यक्ति का जन्म किस समय हुआ था।Image result for kundali दूसरी चीज हैं जन्म की तारीख और तीसरी चीज हैं व्यक्ति के पैदा होने का जन्म स्थान इन्हीं जन्म विवरण के आधार पर जन्म कुंडली तैयार की जाती हैं। जीवन में कभी भी परिस्थितियां एक समान नहीं होती हैं मनुष्य के जीवन में कभी खुशी और कभी गम आते ही रहते हैं व्यक्ति के अपने जीवन में कभी सफलता प्राप्त होती हैं तो कभी उसे संघर्षों का सामना भी करना पड़ता हैं। मनुष्य के कठिन समय में ही कुंडली महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here