ब्लड प्रैशर के मरीज दवाओं के साथ अपनाएं ये आसान उपाय, मिलेंगे कई बेमिसाल फायदे भी

0
809

जयपुर। जीवनशैली में बढती व्यस्तता औऱ अनियमित खान-पान के कारण भारत में लगभग सात करोड़ लोग उच्च और निम्न रक्तचाप की चपेट में हैं। इनमें से 6 करोड़ लोग हाईब्लड़ प्रैशर से पीडित है जो बहुत ही चिंताजनक विषय बनता जा रहा है। आंकडों की मानें तो भारत के शहरी इलाकों में रहने वाले लगभग 20 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्रों के लगभग 10 प्रतिशत लोग हाई ब्लड प्रेशर के शिकार है। लोगों की काम में व्यस्तता के कारण बेशक ही उनकी आय बढ गई हो, लेकिन थकान औऱ तनाव के कारण वह हाई ब्लड प्रेशर से भी पीडित हुए हैं। इसलिए 35 की उम्र से ही ब्लड़ प्रैशर की जांच करवाते रहना चाहिए, जिससे आप समय रहते इससे बचाव के उपाय अपना सकें। आज हम आपको उन उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनपर ध्यान देने से आप इस समस्या के प्रभावों से निजात पा सकते हैं-

  • सर्दियों के मौसम में हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को ज्यादा समस्यओं का सामना करना पड़ जाता है। इसलिए समय-समय पर जांच के साथ चिकित्सकीय परामर्श करना बेहद आवश्यक है। जिससे मौसम के अनुरुप आपकी दवाओं का निर्धारण हो सके।

  • कभी-कभी ज्यादा कामकाज के कारण या फिर अचानक कभी भी लोग असहज महसूस करने लगते हैं, ऐसी स्थिति आन पर अपने रक्तचाप की जांच करवाना बेहद आवश्यक है।
  • रक्तचाप की समस्या का आजतक को कोई स्थाई इलाज सामने नहीं आया है लेकिन खानपान में सुधार और स्वस्थ जीवन-शैली अपनाकर दवाओं के साथ-साथ इसे आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है। और दवाओं को लेकर भी चिकित्सकीय परामर्श जरूर करना चाहिए।

  • हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों में अगर धूम्रपान की लत और कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने की समस्या भी रहती हैं तो उन्हें दिल का दौरे पड़ने की संभावनाएं बहुत बढ जाती है। इसलिए जितना हो सके धूम्रपान छोड़ देना चाहिए।
  • अकसर मानसिक तनाव औऱ आराम के अभाव में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बनती है इसलिए काम के बीच-बीच में आराम करते रहें औऱ तनाव से राहत पाने के लिए किसी दूसरी एक्टिविटी पर ध्यान केंद्रित करें।

  • विशेषज्ञों की मानें तो हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों को दिनभर में सिर्फ 3.4 ग्राम प्रतिदिन ही लेना चाहिए। आहार में सिर्फ आधा चम्मच नमक लेने से आप रक्तचाप को आसानी से नियंत्रित कर सकते हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here