Health tips:स्ट्रोक के खतरे से बचने के लिए, आप इस प्रकार करें कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित

0

जयपुर।हमारी गतिहीन जीवन शैली और संसाधित और पैकेज्ड भोजन पर निर्भरता ने इन दिनों उच्च कोलेस्ट्रॉल को एक आम समस्या बना दिया है।हमारे शरीर का मोटापा और तनाव भी उच्च कोलेस्ट्रॉल की संभावना को बढ़ा सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, एथेरोस्क्लेरोसिस पत्रिका में प्रकाशित, कोपेनहेगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि वयस्कों के रक्त में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ाने के कारण स्ट्रोक और हृदय संबंधी रोगों का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।

हमारे रक्त में दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल पाए जाते हैं एक एलडीएल कोलेस्ट्रॉल या ‘खराब कोलेस्ट्रॉल’ और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल या ‘अच्छा कोलेस्ट्रॉल’।हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से हृदय संबंधी रोगों का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।इससे हमारे शरीर में हार्ट ब्लॉकेज और हार्ट स्ट्रोक का खतरा सबसे ज्यादा रहता है।इसलिए शरीर के कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित बनाए रखना बेहद आवश्यक है।
आप अपनी डाइट में कुछ खास पदार्थों को शामिल कर कोलेस्ट्रॉल का नियंत्रित बनाए रख सकते है।
लहसुन का करें सेवन—
लहसुन अपने स्वास्थ्य वर्धक गुणों के लिए जाना जाता है। लहसुन अमीनो एसिड, विटामिन, खनिज और ऑर्गोसल्फर यौगिकों जैसे एलिसिन, ऐज़ीन, एस-एलिलसिस्टीन, एस-एथिलसिस्टीन और डायलीसल्फ़ाइड पाएं जाते है।कई वैज्ञानिक अध्ययनों ने लहसुन को एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में प्रभावी साबित किया है।आप प्रतिदिन लहसुन का सेवन कर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकते है।

ग्रीन टी का करें सेवन
ग्रीन टी में पॉलीफेनोल्स जैसे पोषक तत्व पाएं जाते है।ये यौगिक मानव शरीर को अत्यधिक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं। ग्रीन टी में पॉलीफेनोल्स की उच्चतम सांद्रता होती है जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करती है और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को भी बढ़ाती है।एक अध्ययन से पता चला है कि जो पुरुष ग्रीन टी पीते थे उनमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम रहता है।इसलिए प्रतिदिन ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here