जेल के खाने और दोस्तो की आ रही थी याद वापस जाने के लिए उठाया यह कदम

हम सभी अपने अपने घर के खाने से और दोस्तों से काफी ज्यादा अटैच होते हैं। परंतु तमिलनाडु में एक शख्स ऐसा हैं जिसे जेल की रोटी और दोस्तो से लगाव हो गया

0
45

जयपुर। हम सभी अपने अपने घर के खाने से और दोस्तों से काफी ज्यादा अटैच होते हैं। परंतु तमिलनाडु में एक शख्स ऐसा हैं जिसे जेल की रोटी और दोस्तो से लगाव हो गया और उनकी याद उसे सताने लगी। तो इसलिए उसने यह कदम उठाया ताकी वह वापस जेल जा सके। यह कदम काफी ज्यादा अजीब था और इसे सुनकर आप भी काफी ज्यादा चौक जाएंगे।

इस शख्स का नाम ज्ञानप्रकाश हैं और इसकी उम्र 52 वर्ष हैं। यह पहले भी चोरी के केस में जेलस जाकर आ चुके हैं। जब वह बाहर आए तो उन्हें जेल की याद सताने लगी। एसीपी पी अशोक ने बताया कि ज्ञानप्रकाश ने बताया कि वह जेल का खाना काफी मुपस कर रहा था। वह घर पर खुश नहीं था क्योंकि उसके परिवार वाले उसका ध्यान नहीं रख रहे थे।

ज्ञानप्रकाश ने पुलिस को बताया कि उसे जेल में रहने में मजा आया। यहां पर उसे ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर टाइम पर मिलता था। एक पुलिसकर्मी ने कहा कि जेल में उसे कोई भी आलसी नहीं कहता था। वह जेल में बने अपने दोस्तों से भी मिलना चाहता था।

बता दें कि इस बंदे को जेल की इतनी याद आ रही थी कि जेल जाने के लिए उसने पहले किसी की बाईक चुराई और फिर सीसीटीवी कैमरे में खुद की शकल दिखाई और वहीं पर रूक कर पूलीस का इंतज़ार करने लगा। इसके बाद पुलीस आकर उसे फिर से जेल लेकर चली गई।l

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here