हरियाणा: स्वंयभू संत रामपाल पर आज आएगा फैसला, छावनी में तब्दील हुआ हिसार

0
110

जयपुर। रामपाल और उनके अनुयायियों के 27 हत्याओं के मामलों में अदालत के फैसले से एक दिन पहले हरियाणा के हिसार के प्रशासन ने रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) और अर्धसैनिक सैनिकों के अलावा 4,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जा चुके है. जिले और आसपास के क्षेत्रों में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए ये व्यवस्था करी गई है.

इसके अलावा कानून और व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश और हरियाणा के विभिन्न हिस्सों से ट्रेनों का संचालन आज बंद कर दिया गया है.

अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश (एडीजे) डीआर चियालिया की अदालत ने गुरुवार को 2014 के मामलों में फैसला देने वाला है. जिसके चलते प्रशासन चिंतित है कि रामपाल के हजारों अनुयायियों द्वारा शहर में हिंसा का माहौल हो सकता है. जिसके चलते पुलिस पूरा सुरक्षा बल तैनात कर हिसार को छावनी में बदल दिया है.

आपको बता दे की इससे पहले पिछले साल अगस्त में बलात्कार के दोषी पाए जाने के बाद डेरा सच्चा सौदा के मुख्य गुरमीत राम रहीम सिंह के अनुयायियों ने हिंसा हुई थी और उसमे 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी.

बता दे की रामपाल के खिलाफ मामलों में अंतिम तर्क, सतलोक आश्रम के प्रमुख और उनके अनुयायियों को सोमवार को पूरा कर लिया गया था और फैसला सुरक्षित रखा गया था.

19 नवंबर, 2014 को हिसार के बरवाला शहर में सतलोक आश्रम में चार महिलाएं और एक बच्चे की मौत के बाद रामपाल और उनके अनुयायियों में से 27 को हत्या और कारावास के आरोप में बुक किया गया था.

उप आयुक्त (डीसी) अशोक कुमार मीना ने कहा कि पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने हिसार शहर, आसपास के गांवों और केंद्रीय जेल के पास एक मार्च निकाला जहां रामपाल को कैद करके रखा गया है.

इसके अलावा डीसी ने सोमवार को जिला में आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेध आदेश लगा दिए  थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here