हनुमान जन्मोत्सव पर बन रहा है अद्भुत संयोग, इन उपायो को करने से मिलेंगी राम भक्त हनुमान की कृपा

0

हिंदू धर्म शास्त्रों के मुताबिक हनुमान जी को शिव का ग्यारहवां रुद्र अवतार माना जाता हैं ऐसी मान्यता हैं कि हनुमान जी का जन्म चैत्र शुक्ल पूर्णिमा पर हुआ था। इससे ठीक पांच दिन पहले श्रीराम नवमी मनाई जाती हैं पवनपुत्र हनुमान भगवान राम के परम भक्त हैं इस दिन श्रीराम सीता और लक्ष्मण के साथ हनुमान जी की आराधना करने से विशेष फल की प्राप्ति मनुष्य को होती हैं वही ऐसा भी कहा जाता हैं कि इस दिन हनुमान जी मनवांछित फल प्रदान करते हैं इस बार कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन के कारण मंदिरों में हनुमान जयंती का पर्व नहीं मनाया जाएगा इसलिए घर पर बैठकर ही आप बजरंगबी को विशेष पूजन से प्रसन्न कर सकते हैं तो आज हम आपको पूजन विधि के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

आपको बता दें कि इस बार हनुमान जयंती पर विशेष्ज्ञ संयोग बन रहा हैं ऐसा कहा जाता हैं कि यह संयोग चार सौ वर्ष बाद बना हैं ज्योतिष की मानें तो इस बार चैत्र पूर्णिमा पर हस्त नक्षत्र, बालव करण, व्यतिपात योग व आनंद योग, सिद्धयोग के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा हैं इन योगों के कारण इस बार हनुमान जयंती बहुत ही महत्वपूर्ण और खास हो गई हैं इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करके भगवान के सामने चौमुखी दिया जलाना चाहिए। ऐसा कहा जाता हैं कि इससे हनुमान जी बहुत ही प्रसन्न हो जाते हैं इसके अलावा सुंदरकांड का पाठ और हनुमान चालीसा का जाप करने से भी जातक को विशेष फल की प्राप्ति होती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here