Gujjar Andolan: भरतपुर में धारा-144 लागू, उपद्रव पर काबू पाने के लिए बयाना पहुंची पुलिस कंपनियां….

0

बैकलॉग भर्तियों में 5 फीसदी आरक्षण सहित 6 सूत्री मांगों को लेकर 1 नवंबर से गुर्जर समाज फिर से आंदोलन की राह पर है। गुर्जर समाज ने आंदोलन के लिए गहलोत सरकार को चेतावनी दी है। इसके चलते अब आरक्षण को लेकर प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। भरतपुर में गुर्जर आंदोलन को लेकर धारा 144 लगाई गई है। भरतपुर जिले के बयाना में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। पुलिस बल की कंपनियां बयाना जा रही है। इस  बीच गुर्जर नेताओं और सरकार के बीच बातचीत होनी है।

भरतपुर के बयाना में जीआरपी के 50 और आरपीएफ के 150 जवानों को भेजा गया है। कई इलाकों में इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है। शांति व्यवस्था को प्रभावित करने वाले लोगों पर रासूका लागने के निर्देश जारी किए गए हैं। गृह विभाग की ओर से भरतपुर, करौली, सवाई माधोपुर, धौलपुर, दौसा, टोंक, बूंदी और झालावाड़ कलेक्टर्स को आदेश दिए हैं। गुर्जर बाहुल्य चार जिलों दौसा, सवाईमाधोपुर, करौली और भरतपुर में शुक्रवार शामल से ही इंटरनेट बंद कर दिया गया है।

इसके अतिरिक्त जयपुर जिले की 5 तहसीलों पावटा. कोठपूतली, शाहपुरा जमवारामगढ़ और विराटनगर में भी इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।  संभागीय आयुक्त भरतपुर सोमनाथ मिश्रा की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, इंटरनेट सेवा पर यह पाबंदी शनिवार को मध्य रात्रि तक लगाई गई है। लेकिन जरूरत पड़ी तो इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है। पुलिस प्रशासन ने हालात से निपटने के लिए अलग-अलग फोर्स की 19 कंपनियां इन जिलों भेज दी है।

Read More…
First Seaplane Service in India: देश के पहले सी-प्लेन को हरी झंडी, पीएम मोदी ने किया पहला सफर….
Indira Gandhi Death Anniversary: इंदिरा गांधी की हत्या और उसके बाद भयावहता को बयां करते वो 12 घंटे….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here