GST टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत, रिटर्न देरी पर जुर्माना सिर्फ 500 रुपये तक

0

कोरोना काल में सरकार ने टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत दी है। अब मासिक और तिमाही आधार पर सेल्स रिटर्न फाइल करने में देरी होने पर 500 रुपये से ज्यादा का जुर्माना नहीं लग सकेगा। GSTR-3B फाइल करने में देरी होती है तो हर रिटर्न पर सिर्फ 500 रुपये ही जुर्माना देना होगा। यह नियम जुलाई 2020 तक लागू रहेगा।

GST महीने में तिमाही या फिर महीने के खत्म होने के अगले 20 तारीख तक फाइल किया जाता है। नए ऐलान के अनुसार, जुलाई 2017 से जुलाई 2020 के बीच लेट रिटर्न फाइल पर हर रिटर्न पर 500 रुपये का फाइन लग सकेगा। लेकिन रिटर्न फाइलिंग को 30 सितंबर 2020 तक पूरा कर लिया जाना चाहिए। सरकार के जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, यदि किसी जीएटी टैक्सपेयर्स पर कोई देनदारी नहीं बनती है तो उसे निल रिटर्न फाइल करने पर कोई चार्ज नहीं लग सकेगा। अगर टैक्स देनदारी बनती है तो 500 रुपये से ज्यादा जुर्माना नहीं वसूला जाएगा।

अगर निल रिटर्न फाइल करना है तो अब यह मैसेज के जरिए संभव है। टैक्सपेयर्स को निल रिटर्न दाखिल करने के लिए जुलाई के पहले सप्ताह से एसएमएस के जरिए का मंथली और तिमाही ब्योरा GSTR-1 भेज सकेंगे। इससे करीब 12 लाख से ज्यादा लोगों को फायदा हो सकेगा। फिलहाल टैक्सपेयर्स को हर महीने या फिर हर तिमाही में साझा पोर्टल पर अपने अकाउंट में लॉग इन करना होता है। इसके बाद ही जीएसटी रिटर्न-1 दाखिल करना होता है। लेकिन टैक्सपेयर्स को अब देरी से रिटर्न फाइल करने पर 500 रुपये का चार्ज भरना होगा।

Read More…
वंदे भारत मिशन का चौथा चरण शुरू, भारतीयों की घर वापसी के लिए 500 उडानों का संचालन
LAC तनाव पर बोले राहुल गांधी बोले, कहा-चीनी घुसपैठ को नजर अंदाज करना पड़ेगा महंगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here