ग्रोफर्स ने एफएमसीजी सेगमेंट में रखा कदम, 2,500 करोड़ के कारोबार का लक्ष्य

0
149

ऑनलाइन रिटेल सुपरमार्केट ग्रोफर्स ने गुरुवार को दो श्रेणियों, बजट और पॉपुलर जी ब्रांड्स के तहत सात नए ब्रांडों की पेशकश कर एफएमसीजी सेगमेंट में कदम रखने की घोषणा की। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इसके साथ ही ग्रोफर के प्राइवेट लेबल का विस्तार हो गया है। ग्रोफर के पोर्टफोलियो में अब ग्राहकों के लिए 250 से अधिक फूड और नॉनफूड उत्पाद शामिल हैं। ग्रोफर का लक्ष्य अपने मंच पर 10 करोड़ नए उपभोक्ताओं को लाकर ई-कॉमर्स सेक्टर में विकास की नई बयार को बढ़ावा देना है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 2500 करोड़ रुपये का कारोबार लक्ष्य तय किया है और इस तरह कंपनी वृद्धि को लेकर सकारात्मक है।

पॉपुलर जी ब्रांड्स की श्रेणी में कंपनी ने ‘जी मदर चॉइस’, ‘जी हैप्पी डे’ और ‘जी हैप्पी होम’ समेत विभिन्न ब्रांड्स के तहत प्रीमियम क्वॉलिटी प्रोडक्ट उपभोक्ताओं को ऑफर किए हैं। बजट कैटेगरी के तहत कंपनी के ब्रांड्स में ‘हैव मोर’ और ‘सेव मोर’ शामिल है। यह उन उपभोक्ताओं को देखते हुए बनाए गए हैं, जो कीमतों के मामले में बहुत संवेदनशील होते हैं। ‘जी हैप्पी डे’ और ‘हैव मोर’ ब्रांड्स में अलग-अलग तरह के फूड प्रोडक्ट्स शामिल हैं, जिसमें चाय, फ्रूट जैम, मुसली, टोमैटो कैचअप, कॉर्न फ्लेक्स, रोज शाही शरबत आदि शामिल हैं।

‘जी हैप्पी होम’ और ‘सेव मोर’ ब्रांड्स में डिटर्जेट, घरेलू समान, मुंह की देखभाल के प्रोडक्ट्स, टिश्यू और डिस्पोजेबल, किचन के उपकरण और एक्सेसरीज, फर्नीचर और स्टोरेज समेत कई अन्य उत्पाद शामिल है।

‘जी मदर्स चॉइस’ ई-ग्रोफर का प्रमुख ब्रांड है जो उपभोक्ताओं को बाजार में मौजूद अच्छी गुणवत्ता और कम दाम के फूड आइटम्स की लंबी-चैड़ी रेंज मुहैया कराता है। जी-ब्रांड्स और बजट श्रेणी दोनों के तहत बेहतरीन क्वॉलिटी वाले प्रोडक्ट्स का वर्गीकरण किया गया है, जो रोजमर्रा की खरीद में उपभोक्ताओं की बचत को बढ़ाएंगे।

कंपनी का दावा है कि ग्रोफर के प्राइवेट लेबल रेंज के प्रोडक्ट की कीमत बाजार में मौजूद लोकप्रिय ब्रांड्स से 5 से 50 फीसदी तक कम रखी गई है।

ग्रोफर्स के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अलबिंदर ढींढसा ने कहा, “भारत में कंपनी के अगले चरण के विकास के लिए यह विस्तार बहुत जरूरी है। पिछले पांच वर्षों में हमें अपने ग्राहकों से जबरदस्त रेस्पांस मिला है। अपनी इंडस्ट्री संबंधी अनेक पहलों से हम नए उपभोक्ताओं को ई-कॉमर्स के दायरे में लाने में सफल रहे हैं। इसमें से 15 फीसदी उपभोक्ता हमारे यहां से हर महीने राशन के सामान की खरीदारी करते हैं। हमारा फोकस वास्तविक भारत के आम आदमी और उन परिवारों को ई-कॉमर्स के प्लेटफॉर्म पर लाना है, जिन्होंने अब तक ई-कॉमर्स की दुनिया का अनुभव नहीं किया है। हमारा लक्ष्य अपने मंच के माध्यम से अगले 10 करोड़ नए ग्राहकों को ई-कॉमर्स इंडस्ट्री की ओर आकर्षित करना है।”

ग्रोफर्स के संस्थापक सौरभ कुमार ने कहा, “खुदरा बाजार में अच्छी क्वॉलिटी के सामान कम से कम कीमत में मुहैया कर कंपनी की बाजार में तहलका मचाने की योजना है। अपने इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए कंपनी के प्रोडक्ट्स को 2 नई कैटेगरी में बांटा गया है, जो अलग-अलग कीमत पर अलग-अलग श्रेणी के उपभोक्ताओं की जरूरतों की पूर्ति करती है। हम ‘एव्री डे लो प्राइसेस’ (ईडीएलपी) यानी हर दिन कीमत कम रखने का वादा निभा रहे हैं, जिसे अब तक किसी ने चुनौती नहीं दी है। यह विस्तार घर में ही विकसित ब्रांड के रूप में हमारी सफलता की कहानी में एक और मील का पत्थर है। यह देश में ई-कॉमर्स की प्रणाली को निश्चित रूप से आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।”

ग्रोफर्स ने वित्त वर्ष 2017-18 में 950 करोड़ की बिक्री की और 2018-19 में कंपनी का लक्ष्य मजबूती से विकास करने का है, जिसमें 50 फीसदी योगदान इसके प्राइवेट ब्रांड्स का होगा।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleओला राइड अब एडिलेड में उपलब्ध, जानिए इसके बारे में !
Next articleसोशल मीडिया पर छा रहे हैं शाहरुख खान और गौरी खान
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here