बिहार चुनाव में महागठबंधन को लग सकता है एक और झटका, एनडीए में शामिल हो सकते हैं उपेंद्र कुशवाहा

0

बिहार में विधानसभा चुनाव बेहद करीब है और इसी बीच महागठबंधन की मुश्किल है जो खत्म नहीं हो रही। महागठबंधन का संचालन करने वाली राजद से पहले ही एक पर एक वरिष्ठ नेता इस्तीफा दे रहे हैं इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी महागठबंधन का दामन छोड़कर एनडीए की ओर रुख मोड़ लिया और इस बार पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने संकेत दिया है कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी महागठबंधन का साथ छोड़ सकती है और एनडीए में शामिल हो सकती है।
राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के महासचिव आनंद माधव ने कहां की राजनीति संभावना से भरी है अगर महागठबंधन निर्णय की वर्तमान स्थिति से बाहर नहीं आता है तो हम बिहार के विकास के लिए अपने भविष्य के बारे में निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हैं उन्होंने आगे कहा, “गठबंधन में एक स्पष्टता की जरूरत होती है ताकि दलों के मन में कोई भ्रम ना रहे। हम चाहते हैं कि आरजेडी आगे आकर गठबंधन के दलों के साथ सभी मुद्दों पर चर्चा करें। अगर कोई कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाना है तो यह एक-दो दिन का काम नहीं है। चुनाव की अधिसूचना किसी भी दिन जारी हो सकती है, लेकिन अभी तक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के मुद्दे पर कोई बात नहीं हुई है
बता दें कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पहले एनडीए गठबंधन में ही थे लेकिन पिछले साल के लोकसभा चुनाव में छोटे दलों के प्रति बीजेपी का अहंकार का हवाला देते हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था और महागठबंधन में शामिल हो गए थे। 2014 लोकसभा चुनाव में एनडीए के गठबंधन के साथ आरएलएसपी ने 3 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे थे और पार्टी ने तीनों पर जीत दर्ज किया था। हालांकि पिछले लोकसभा चुनाव में महागठबंधन का साथ करके आरएलएसपी को एक भी सीट पर जीत प्राप्त नहीं हुई।
भाजपा ने भी आरएलएसपी को एनडीए में आने का निमंत्रण दिया है, बीजेपी एमएलसी और पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान कहां की आरएलएसपी का एनडीए में हमेशा स्वागत है उनके आने से हमारा वोट बैंक बढ़ेगा और सीट बंटवारे में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here