Lahore में सरकार और विपक्षी दलों ने अलग-अलग किया ओएलएमटी का उद्घाटन

0

पाकिस्तान की पहली इंटरसिटी बुलेट ट्रेन सेवा ऑरेंज लाइन मेट्रो ट्रेन (ओएलएमटी) का उद्घाटन रविवार को लाहौर में सरकार और विपक्षी दल की ओर से आयोजित किए गए दो अलग-अलग समारोहों में किया गया। यह इसलिए हुआ, क्योंकि सत्ताधारी और विपक्षी दोनों ही पार्टियां इसकी स्थापना का श्रेय खुद को दे रही हैं।

विपक्षी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग – नवाज (पीएमएल-एन) ने लाहौर के अनारकली स्टेशन पर पहला उद्घाटन समारोह किया, जहां रिबन काटने की रस्म को देखने के लिए बड़ी संख्या में पार्टी के सदस्य और समर्थक मौजूद रहे।

दूसरी ओर, पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार ने भी एक अलग समारोह में परियोजना का उद्घाटन किया, क्योंकि दोनों पार्टियों ने परियोजना के स्वामित्व का दावा किया है।

पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री ने कहा, “ऑरेंज लाइन मेट्रो ट्रेन (ओएलएमटी) पाकिस्तान-चीन दोस्ती की परिणति है, जो चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के साथ शुरू हुई थी।”

बुजदार ने कहा, “यह सीपीईसी के तहत पहली परिवहन परियोजना है और लाहौर के लोगों के लिए एक उपहार है। पंजाब सरकार संयुक्त उद्यम के साथ हो सकने वाली सभी विकास परियोजना का स्वागत करती है।”

एक तरफ जहां सत्तारूढ़ प्रांतीय सरकार के नेतृत्व वाले समारोह ने ओएलएमटी के सफल समापन के लिए अपनी पीथ थपथपाई, वहीं दूसरी ओर विपक्षी पार्टी पीएमएल-एन ने दावा किया कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ओएलएमटी परियोजना के संस्थापक थे।

पूर्व रेल मंत्री और पीएमएल-एन के वरिष्ठ नेता ख्वाजा साद रफीक ने ओएलएमटी के पूरा होने में देरी पर सत्तारूढ़ सरकार से सवाल किया। उन्होंने कहा कि इससे देश को अरबों रुपये का नुकसान झेलना पड़ा है।

पीएमएल-एन नेता अताउल्लाह तरार ने दावा करते हुए कहा, “पीटीआई (पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ) ने शहबाज शरीफ को इसका उद्घाटन करने से रोकने के लिए जानबूझकर स्थगन आदेश (स्टे ऑर्डर) लिया है।”

संघीय सरकार ने भी विपक्ष के दावों का जवाब देने में देरी नहीं की। सूचना और प्रसारण मामलों के संघीय मंत्री ने कहा, “सीपीईसी पाकिस्तान के लोगों की परियोजना है, न कि किसी विशिष्ट पार्टी की।”

ओएलएमटी के आधिकारिक विवरण के अनुसार, कम से कम 26 स्टेशनों के साथ 27.12 किलोमीटर में फैले ट्रैक को सेटअप किया गया है। देश के पहले बिजली से चलने वाले सार्वजनिक परिवहन के माध्यम से कम से कम 250,000 यात्री प्रतिदिन यात्रा करेंगे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articlebeauty tips:चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने के लिए, आप करें एलोवेरा का इस्तेमाल
Next articleपावरफुल सैमसंग गैलेक्सी S20 FE स्मार्टफोन 9,000 रुपये सस्ता मिल रहा है, यह खरीदने का सबसे अच्छा मौका है
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here