सरकार ने नवोदय विद्यालयों में छात्रों की आत्महत्या के कारणों का पता लगाने के लिए समिति गठित की

0
632

जयपुर।  केंद्र सरकार ने आज गुरुवार को पिछले 10 सालों में नवोदय विद्यालय में हुए 37 छात्रों की आत्महत्या के पीछे का कारण पता लगाने के लिए एक समिति का गठन किया है. मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावेडकर ने राज्यसभा की शून्यकाल में इस बात की जानकारी देते हुए कहा है कि देश में पिछले 10 सालों में नवोदय विद्यालयों में कितने छात्रों की हत्या आत्महत्या करना एक चिंता का विषय है जिसके चलते इसके बारे में जांच करना आवश्यकता है.

खबर यह है कि कांग्रेस की विप्लव ठाकुर ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाते हुए सरकार से सवाल किया था कि इतने सारे छात्रों ने आत्महत्या क्यों की. उन्होंने कहा था कि इसके कारणों का पता लगाने के लिए अभी तक कोई प्रयास नहीं किए गए हैं इस पर सरकार का पक्ष रखते हुए प्रकाश जावेडकर ने समिति के गठन की जानकारी दी थी इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि सरकार इन स्कूलों से परामर्श नियुक्त और परामर्शक नियुक्त करने को लेकर भी काम कर रही है.

वहीं सदन में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कहा कि नवोदय विद्यालय को अवश्य विद्यालय शिक्षा का एक भेद सफल माध्यम कहा जा सकता है उन्होंने कहा कि 12वीं कक्षा में यहां छात्रों की उत्तर इन्होने का औसत 98% रहा है बल्कि यह प्रतिशत सीबीएसई में सिर्फ 82% तक की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here