गोखले की अपील, आतंकवाद पर कड़ा संकल्प ले अमेरिका

0
41

पुलवामा आत्मघाती हमले व इससे पैदा हुए क्षेत्रीय तनाव के मद्देनजर अमेरिकी नेताओं से मुलाकात करते हुए भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने भारत के आतंकवाद से लड़ाई में अमेरिका के ‘कंधे से कंधा मिलाकर’ खड़े होने के दृढ़ संकल्प का आह्वान किया है।

भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने की मांग के तहत आतंकवाद उनकी वार्ता का केंद्र था। उन्होंने इस पर सेक्रेटरी ऑफ स्टेट माइक पोम्पियो, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन और अन्य प्रशासन के अधिकारियों और कांग्रेस के नेताओं के साथ अपनी तीन दिवसीय अमेरिकी दौरे में बातचीत की। यह दौरा बुधवार को समाप्त हुआ।

बोल्टन ने बुधवार की अपनी बैठक के बाद ट्वीट किया, “आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई में अमेरिका कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।”

विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि ठीक वही संदेश देते हुए पोम्पियो ने हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को न्याय के कटघरे में लाने व पाकिस्तान द्वारा उसकी धरती पर संचालित हो रहे आतंकवादी समूहों के खिलाफ सार्थक कार्रवाई करने की जरूरत बताई।

बोल्टन ने कहा कि भारत-प्रशांत क्षेत्र में रणनीतिक भागीदारी ‘साझा दृष्टिकोण’ के तहत बनाई जा रही है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चाहते हैं कि भारत क्षेत्र में प्रमुख भूमिका निभाएं, जहां वह दोनों देशों को चीन के प्रभुत्व के खिलाफ लोकतंत्र की रक्षा के तौर पर देखते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन को प्रत्यक्ष रूप से चुनौती पेश किए बिना इस भूमिका को सावधानीपूर्वक अपनाया है। भारत व अमेरिका ने क्षेत्र के दो प्रमुख लोकतंत्र आस्ट्रेलिया व जापान के साथ बहुपक्षीय सहयोग को बढ़ाया है।

एक संयुक्त बयान जारी कर कहा गया, “अमेरिका व भारत ने क्षेत्र में नियम आधारित व्यवस्था को मजबूत करने में संयुक्त नेतृत्व के महत्व व भारत-प्रशांत के अन्य भागीदारों के साथ संयोजन की पुष्टि की।”

गोखले से मुलाकात के बाद हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव सबकमेटी ऑन एशिया, द पैसेफिक व नॉन-प्रोलिफेरेशन के चेयरमैन ब्रैड शर्मन ने कहा कि उन्होंने भारत-पाकिस्तान संबंधों में अमेरिका की भूमिका पर चर्चा की।

पाकिस्तान समर्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) आतंकवादी समूह के 14 फरवरी को पुलवामा में हमले के बाद भारत-पाकिस्तान संकट के दौरान पोम्पियो ने फोन पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से बात की और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से बात कर बढ़ती शत्रुता को कम करने का प्रयास किया।

उन्होंने पाकिस्तान पर भारतीय पायलट अभिनंदन वर्धमान को रिहा करने का दबाव बनाया। हवाई लड़ाई के दौरान मिग-21 को मार गिराए जाने के बाद पाकिस्तान ने अभिनंदन को बंधक बनाया था।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleउड़ानें रद्द होने से हवाई किराए में 100 फीसदी से ज्यादा की वृद्धि
Next articleविवाह में रुकावट का कारण बन सकता है आपके सोने का तरीका, जानें कैसे
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here