लॉकडाउन से Goa Tourism को 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान’

0

देशभर में लगाए गए लॉकडाउन का प्रतिकूल प्रभाव लगभग सभी स्तरों पर पड़ा है। गोवा भी इससे अछूता नहीं रहा है। लॉकडाउन के चलते यहां के पर्यटन उद्योग को 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। गोवा में चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष मनोज काकुलो ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी और साथ ही राजस्व की कमी को पूरा करने व अधिक रोजगार सृजन के लिए राज्य सरकार से तत्काल प्रभाव से खनन कार्यो को शुरू करने की अपील की।

काकुलो ने यहां अपने एक बयान में कहा, “विभिन्न एजेंसियों द्वारा यह अनुमान लगाया गया है कि राज्य का पर्यटन उद्योग यहां के लिए राजस्व कमाने का सबसे बड़ा स्रोत है। लॉकडाउन के चलते इसे 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।”

काकुलो ने गोवा में खनन गतिविधियों को फिर से शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा उठाए गए ‘सक्रिय कदम’ का स्वागत किया, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय खान मंत्री प्रह्लाद जोशी संग बैठकें शामिल हैं।

उन्होंने आगे कहा, “खनन गतिविधियों के पुन: संचालन से रॉयल्टी और करों के रूप में राज कोष में वृद्धि होगी, जिसकी अभी बहुत ज्यादा जरूरत है और साथ ही महामारी की इस चुनौतीपूर्ण घड़ी में गोवा के हजारों निवासियों को आजीविका का एक अहम स्रोत भी प्राप्त होगा।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस लॉकडाउन, गोवा पर्यटन, हिंदी समाचार

SHARE
Previous articleDelhi students कर सकेंगे रेडियो स्टेशन से जुड़े कोर्स
Next articleRealme X7 Pro 5G फोन की कीमत में 3000 रुपये की कटौती, जानें फोन की कीमत
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here