कर्नाटक में अफरातफरी के बीच अब कांग्रेस कल करेगी गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश

0
709

जयपुर। कर्नाटक में अभी तक चुनाव के बाद सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ खत्म हुआ भी नहीं है कि कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल से मिलने का प्लान बना लिया है। कर्नाटक में राज्यपाल ने कल सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दे दिया था और आज सुबह ही बीएस येदियुरप्पा ने राज्य के सीएम के रूप में शपथ ले लिया।

कांग्रेस कल यानि कि 18 मई को गोवा में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल से मिलने जा रही है। कांग्रेस के गोवा प्रभारी चेल्ला कुमार 18 मई को राज्य में सारे कांग्रेसी विधायकों के साथ राज्यपाल से मिलेंगे और राज्य में सरकार बनाने के लिए दावा पेश करेंगे।

इस बारे में गोवा कांग्रेस के नेता सतीश नायक ने और बताया कि..

2017 में हमने 17 सीटें जीतीं और हम सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरे थे। लेकिन राज्यपाल ने भाजपा को मिलने का आमंत्रण दिया, जिसके पास 13 सीटें थीं। कर्नाटक में राज्यपाल ने भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते आमंत्रित किया। ऐसे में हम भी राज्यपाल से अपील कर रहे हैं कि हमें सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए आमंत्रित करें।

कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए ज़रुरी 21 सीटों की ज़रुरत है। राज्य में कुल 40 विधानसभा सीटें हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और 17 सीटें हासिल की थीं। इसी साल हुए विधानसभा उपचुनाव के बाद कांग्रेस की सीटें 16 रह गई थीं और भाजपा की 14 रह गई थीं।

2017 में गोवा के राज्यपाल ने भाजपा के पास बहुमत होने की वजह से सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था। भाजपा के पास खुद के अलावा एमजीपी, जीएफपी और निर्दलीय के तीन-तीन विधायकों का समर्थन है। कांग्रेस के साथ एनसीपी के एक विधायक का समर्थन है।

इस तरह से कांग्रेस मणिपुर में भी सरकार बनाने का दावा कर सकती है, क्योंकि वहां भी वो सबसे बड़ी पार्टी है। भाजपा ऐसे मामले में घिर सकती है, क्योंकि अभी अभी गोवा के राज्यपाल ने सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते भाजपा को कर्नाटक में सरकार बनाने दिया है। अब दो राज्यों में अलग अलग फैसले तो हो नहीं सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here