जर्मन औद्योगिक क्षेत्र में उत्पादन में बढ़त से व्यापार में वृद्धि दिख रही

0

जर्मन औद्योगिक उत्पादन और निर्यात जून में काफी बढ़ गया है , जो की देश के सभी महत्वपूर्ण कार उद्योग द्वारा संचालित है , क्योंकि कोरोना वायरस महामारी के बाद से अर्थव्यवस्था में सुधार जारी रहा है। जर्मन एजेंसी डेस्टैटिस द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, मई में 7.4 प्रतिशत की तुलना में औद्योगिक उत्पादन महीने-दर-महीने के हिसाब से 8.9 प्रतिशत बढ़ा है, लेकिन इसी महीने पहले की तुलना में लगभग 11.7 प्रतिशत कम रहा है। डेस्टैटिस ने कहा कि मई में निर्यात में 14.9 प्रतिशत की कमी आई है, जो मई में 9.0 प्रतिशत की निरंतर वृद्धि के साथ-साथ 96.1 बिलियन यूरो तक पहुंच गई है।

Coronavirus: Germany eases COVID-19 restrictions on playgrounds, churches |  News | DW | 30.04.2020बर्नबर्ग के मुख्य अर्थशास्त्री, होल्गर श्मिटिंग के अनुसार, जर्मनी पहले की अपेक्षा तेजी से ठीक हो रहा है। “एक बड़ी दुर्घटना के अभाव में, जर्मनी पहले से ही तीसरी तिमाही में जीडीपी में ड्रॉप को फिर से प्राप्त कर सकता है, परंतु यह सब मुख्य रूप से वायरस और उसकी प्रतिक्रिया पर निर्भर करता है।हालांकि जून के निर्यात के आंकड़े 2019 में अभी भी 9.4 प्रतिशत से नीचे बने हुए हैं और इस वर्ष फरवरी की तुलना में 16 प्रतिशत नीचे हैं।

Stocks rise worldwide, lifted by hopes for virus progress | KMPH80.5 बिलियन यूरो के आयात के साथ महीने-दर-महीने 7.0 प्रतिशत की वृद्धि से जर्मनी का विदेश-व्यापार अधिशेष 15.6 बिलियन यूरो तक बढ़ गया है । लगभग एक साल पहले समान स्तर जब यह 16.5 बिलियन यूरो था। इस बीच देश के प्रमुख कार उद्योग में उत्पादन हुआ है और मर्सिडीज पिछले महीने की तुलना में जून में 54.7 प्रतिशत की अधिक बढ़ोतरी देख रहा है। उपभोक्ता-माल का उत्पादन 7.3 प्रतिशत बढ़ा, जबकि निर्माण का उत्पादन 1.4 प्रतिशत बढ़ा।

Bleak Data Shows Extent of Economic Damage - The New York Timesआईएनजी के अर्थशास्त्री कार्सन ब्रजस्की ने कहा है की इन मजबूत संख्याओं के साथ मे दूसरी तिमाही में जीडीपी डेटा के ऊपर के संशोधन को नहीं किया जाना है । लॉकडाउन के उपायों बाद कम पलटाव दिख रहा है। हालाँकि, कोरोना के प्रतिबंधों से दर्शक किसी भी वसूली का शिकार नहीं हो रहे हैं। मई के बाद से पहली बार गुरुवार को जर्मनी में 1,000 से अधिक नए वायरस के मामले सामने आए है। दूसरी लॉकडाउन की लहर सभी जोखिमों का कारण बन सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here