जीडीपी की रफ्तार 7.1 फीसदी निराशाजनक : आर्थिक मामलों के सचिव

0
106

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने शुक्रवार को कहा कि यह ‘निराशाजनक’ है कि वित्त वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही में देश के जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) की रफ्तार गिरकर 7.1 फीसदी रही।

उन्होंने कहा कि विनिर्माण और कृषि की विकास दर जहां स्थिर रही है। वहीं, मॉनसून के कारण विनिर्माण और खनन क्षेत्र की विकास दर घटी है। हालांकि उन्होंने कहा कि छमाही विकास दर 7.4 फीसदी रही, जो कि ‘काफी मजबूत और स्वस्थ’ थी।

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, “वित्त वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही में जीडीपी की दर 7.1 फीसदी रही, जो निराशाजनक है। विनिर्माण की विकास दर 7.4 फीसदी और कृषि की विकास दर 3.8 फीसदी रही, जोकि स्थिर है। जबकि विनिर्माण की 6.8 फीसदी और खनन की नकारात्मक 2.4 फीसदी रही, जोकि मॉनसून के कारण कम रही।”

इससे पहले शुक्रवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों में देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) दर में जुलाई-सितंबर की अवधि में गिरावट दर्ज की गई है, जोकि 7.1 फीसदी रही, जबकि इसकी पिछली तिमाही में यह 8.2 फीसदी थी।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here