कभी ऐसी मजबूरी सुनी हैं आपने शराब ज्यादा पीने की

0
205

पहला दोस्त: यार किसी ने सही कहा है, एक आदमी ही दूसरे आदमी को समझता है। दूसरा: कैसे? पहला: कल मैंने जब दुकानदार को लेडीज वॉच दिखाने को कहा, तो उसने तुरंत पूछा सर बीवी के लिए दिखानी है या फिर गर्ल फ्रेंड के लिए।

8

पुरानी कहावत: जो हंसे..उनके घर बसे। नयी कहावत: जिनके घर बसे..वे फिर कभी नहीं हंसे।

9

पुलिसवाला: ‘इतनी क्यों पी रखी थी?’ शराबी : ‘मजबूरी थी भैया!’ पुलिसवाला, ‘कैसी मजबूरी?’ शराबी : ‘बोतल का ढक्कन खो गया था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here